Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

WHO की टीम कोरोना वायरस की उत्पत्ति का पता लगाने आज पहुंचेगी चीन

चीन में एक बार फिर कोरोना का कहर शुरू हो गया है। आठ महीने बाद चीन में वायरस की चपेट में आकर एक शख्स की मौत हो गई। इससे पहले मई में वायरस के कारण आखिरी मौत हुई थी। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के नेतृत्व में विशेषज्ञों की एक टीम आज गुरुवार को चीन के वुहान पहुंचेगी।

WHO की टीम कोरोना वायरस की उत्पत्ति का पता लगाने आज पहुंचेगी चीन
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

चीन में एक बार फिर कोरोना का कहर शुरू हो गया है। आठ महीने बाद चीन में वायरस की चपेट में आकर एक शख्स की मौत हो गई। इससे पहले मई में वायरस के कारण आखिरी मौत हुई थी। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के नेतृत्व में विशेषज्ञों की एक टीम आज गुरुवार को चीन के वुहान पहुंचेगी। यह टीम पता लगाएगी कि कोरोना वायरस की उत्पत्ति वुहान से हुई या नहीं।

शुरुआती आनाकानी और अंतरराष्ट्रीय दबाव के आगे झुकते हुए चीन ने डब्ल्यूएचओ (WHO) की टीम को अपने यहां आने की अनुमति दी है। चीन की राजधानी बीजिंग पर यह आरोप है कि उसके वुहान शहर स्थित लेबोरेटरी से ही वैश्विक महामारी का कारण बनने वाला कोविड-19 वायरस पैदा हुआ और यहीं से पूरी दुनिया में फैल गया। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सबसे पहले यह आरोप लगाया था और इसे चीनी वायरस करार दिया था।

डब्ल्यूएचओ के विशेषज्ञों की टीम खासतौर पर वायरस का केंद्र रहे वुहान भी जाएगी। दिसंबर, 2019 में इसी शहर में कोरोना का पहला मामला मिला था। ट्रंप समेत दुनिया के कई नेताओं के आरोपों के बाद डब्ल्यूएचओ ने वायरस का स्रोत जांचने के लिए चीन जाने की बात कही थी, लेकिन शुरआत में बीजिंग इसके लिए तैयार नहीं था। वह डब्ल्यूएचओ की दस सदस्यीय टीम को अनुमति देने में आनाकानी कर रहा था।

चीन के इस रवैये की पूरी दुनिया में आलोचना हुई और बीजिंग समर्थक माने जाने वाले डब्ल्यूएचओ प्रमुख टेड्रोस अदनोम घेबरेसस ने भी इस कम्युनिस्ट देश की कठोर शब्दों में निंदा की थी। डब्ल्यूएचओ प्रमुख की फटकार के बाद चीन सक्रिय हुआ। गत नौ जनवरी को चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग के उप प्रमुख जेंग ईझिन ने कहा कि डब्ल्यूएचओ की टीम चीन आएगी और उसके दौरे की तारीख को लेकर बातचीत चल रही है।

Next Story