logo
Breaking

अमेरिका और ईरानी की लड़ाई में किस साइड होंगे दुनिया के मुस्लिम देश?

अमेरिका और ईरान के बीच तनाव लगातार बढ़ता ही जा रहा है। ऐसे में चर्चा हो रही है कि अगर अमेरिका इस बीच आक्रामक कार्रवाई करता है तो इसका दुनिया के अन्य देशों पर क्या असर पड़ेगा और क्या शिया मुस्लिम बहुल ईरान के समर्थन में अन्य मुस्लिम देश भी आएंगे या उसके खिलाफ कार्रवाई में शामिल होंगे।

अमेरिका और ईरानी की लड़ाई में किस साइड होंगे दुनिया के मुस्लिम देश?

अमेरिका और ईरान के बीच तनाव लगातार बढ़ता ही जा रहै है। ऐसे में सवाल यह भी उठ रहा है कि अगर अमेरिका इस बीच आक्रामक कार्रवाई करता है तो इसका दुनिया के अन्य देशों पर क्या असर पड़ेगा और क्या शिया मुस्लिम बहुल ईरान के समर्थन में अन्य मुस्लिम देश भी आएंगे या उसके खिलाफ कार्रवाई में शामिल होंगे।

दरअसल इस तनाव में दुनिया की बड़ी आबादी वाले देश भी एक-दूसरे के खिलाफ खड़े हैं। मुस्लिम बहुल सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात और बहरीन भी ईरान के खिलाफ अमेरिका के सुर में सुर मिला रहे हैं।

सउदी अरब मीडिल ईस्ट में किसी तरह अपना दबदबा बनाए रखना चाहता है, इसलिए वह ईरान के खिलाफ आक्रामक कार्रवाई चाहता है। बता दें कि ट्रंप से पहले जब बराक हुसैन ओबामा राष्ट्रपति थे तो उन्होंने ईरान के प्रति अपनी नीति बदली थी जिसका तब सऊदी अरब ने विरोध किया था। लेकिन ट्रंप प्रशासन उनके लिए राहत बनकर आया है।

ईरान से तेल आयात पर अमेरिकी प्रतिबंध के बाद सऊदी अरब अब कोशिश कर रहा है कि तेल की वैश्विक आपूर्ति किसी तरह प्रभावित न हो।

Share it
Top