Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Joe Biden Wife: जो बाइडन ने की हैं दो शादियां, 4 बच्चों के हैं पिता, आज भी याद दिलाता है वो हादसा, जिसमे खो गई थी जिंदगी

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक वर्ष 1972 में जो बिडेन पहली बार सांसद थे। इसके बाद उनकी पत्नी नेलिया और बेटी नओमी की एक एक्सीडेंट में मौत हो गई थी।

Joe Biden Wife: जो बाइडन ने की हैं दो शादियां, 4 बच्चों के हैं पिता, आज भी याद दिलाता है वो हादसा, जिसमे खो गई थी जिंदगी
X

जो बिडेटन, फोटो फाइल

अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के नतीजे की तस्वीर पूरी तरह से साफ हो गई है। डेमोक्रेटिक पार्टी के जो बिडेन ने राष्ट्रपति चुनाव जीत हासिल की है। अब वह अमेरिका के अगले राष्ट्रपति होंगे। एक मध्यमवर्गीय परिवार से आने वाले जो बिडन के लिए यह तीसरा मौका था, जब उन्होंने राष्ट्रपति पद के लिए किस्मत आजमाई। जो बिडेन को वर्ष 1997 और 2008 में तो उन्हें पार्टी से ही इस पद पर खड़े होने की इजाजत नहीं मिली थी। लेकिन इस वर्ष 2020 में राष्ट्रपति चुनाव में जो बिडेन न सिर्फ पार्टी में अपनी मजबूती साबित की, बल्कि मौजूदा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर भी भारी साबित हुए। मध्यमवर्गीय परिवार से आने वाले जो बिडन का जीवन निजी त्रासदियों से भरा रहा है।

निजी त्रासदियों से भरा रहा है जो बिडेन का जीवन

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक वर्ष 1972 में जो बिडेन पहली बार सांसद थे। इसके बाद उनकी पत्नी नेलिया और बेटी नओमी की एक एक्सीडेंट में मौत हो गई थी। तब जो बिडेन ने अपने पहले कार्यकाल के लिए अस्पताल के रूम से ही शपथ ली थी। जबकि इस कार एक्सीडेंट में उनके बेटे ब्यू और हंटर इस बाल-बाल बच गए थे। लेकिन साल 2015 में उनके बेटे ब्यू की कैंसर की वजह से मृत्यु हो गई थी।

खबरों के मुताबिक, जो बिडेन का कहना है कि उनके बड़े बेटे ब्यू ने ही उन्हें फिर से राष्ट्रपति पद के लिए खड़े होने के लिए बढ़ावा दिया था। जो बिडेन ने अपने अभियान के दौरान बेटे की मौत का भी जिक्र किया था। इसके अलावा उन्होंने देश में स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत करने की भी बात कही थी। जानकारी के लिए आपको साल 1972 में जो बिडेन पहली बार सीनेटर चुने गए थे। वे डेलावेयर से 6 बार के सीनेटर हैं। जो बिडेन ने वर्ष 1972 में पहली बार चुनाव जीता था। इसके बाद जो बिडेन ने 1988 में पहली बार राष्ट्रपति पद का चुनाव लड़ना चाहा। लेकिन

अपने चुनावी भाषण में ब्रिटेन की लेबर पार्टी के एक नेता के भाषण को दोहराने के आरोपों के कारण से उन्होंने उम्मीदवारी वापस लेनी पड़ गई थी। खबरों की मानें तो जो बिडेन ने बराक ओबामा के लिए श्वेत वोटरों को जुटाने में अमह भूमिका निभाई थी। साल 2008 में बराक ओबामा की दावेदारी की वजह से ही जो बिडेन को राष्ट्रपति पद के लिए खड़े होने का मौका नहीं मिला था। हालांकि, बराक ओबामा ने उनकी छवि को देखते हुए उन्हें अपना उपराष्ट्रपति बानाने का फैसला लिया था।

जो बिडेन ओबामा के खासमखास साथियों में रहे हैं। आपको बता दें कि साधारण परिवार से आने वाले जो बिडेन को हमेशा से अमेरिकी राजनीति में 'मिडिल क्लास जो' कह कर संबोधित किया गया है।

Next Story