Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अब सऊदी तेल ठिकानों पर तैनात होगी अमेरिकी सेना, राष्ट्रपति ट्रंप ने दी मंजूरी, जानें क्या है पूरा मामला

सऊदी के तेल ठिकानों पर हमले के बाद अमेरिका ने एक बड़ा कदम उठाया है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तेल ठिकानों पर अमेरिकी सैनिकों की तैनाती को मंजूरी दे दी है।

अब सऊदी तेल ठिकानों पर तैनात होगी अमेरिकी सेना, राष्ट्रपति ट्रंप ने दी मंजूरी, जानें क्या है पूरा मामलाUS President Donald Trump approved US forces Saudi oil facilities

बीते दिनों सऊदी (Saudi) के तेल ठिकानों पर हमले के बाद अमेरिका (America) ने एक बड़ा कदम उठाया है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (President Donald Trump) ने तेल ठिकानों पर अमेरिकी सैनिकों की तैनाती को मंजूरी दे दी है।

पेंटागन संभालेगा कमान

पेंटागन ने कहा कि सऊदी में अतिरिक्त अमेरिकी सैनिकों और मिसाइल रक्षा उपकरणों को तैनात किया जाएगा। क्योंकि राष्ट्रपति ट्रंप ने कम से कम अब सऊदी अरब के उद्योग पर हमले के जवाब में ईरान पर एक्शन लिया है। सुरक्षा बढ़ाने के लिए यह पहला कदम है।

अमेरिकी सैनिक नहीं होंगे तैनात

दूसरी तरफ संयुक्त चीफ्स ऑफ स्टाफ के अध्यक्ष जनरल जोसेफ डनफोर्ड ने अपने बयान में कहा कि तैनाती को लेकर दिनों पर चर्चा होगी। लेकिन इसमें हजारों अमेरिकी सैनिक शामिल नहीं होंगे।

अमेरिकी तैनाती की संभावना सैकड़ों में होगी। इसके अलावा नई रक्षा टेक्नोलोजी को भी स्थापित किया जाएगा। कहीं अधिक ताकत दिखाता है" और वह ईरान के साथ सभी युद्ध से बचना चाहते थे।

एक बड़े युद्ध की तरफ अमेरिका

बता दें कि अमेरिका ने इस बात के लिए कोई सख्त सबूत नहीं दिए हैं कि ईरान हमलों के लिए जिम्मेदार था। जबकि जांच जारी है, लेकिन शुक्रवार को अमेरिका ने कहा कि हमले में इस्तेमाल किए गए ड्रोन और क्रूज मिसाइलों का निर्माण ईरान में ही हुआ है। सऊदी अरब की तेल सुविधाओं के खिलाफ 14 सितंबर को किया गया हमला ईरान का था।

हाल के महीनों में दूसरी बार ट्रंप ने ईरान के खिलाफ एक प्रमुख सैन्य कार्रवाई करने से कदम पीछे खिंच लिए। कई पेंटागन और अन्य सलाहकारों का डर एक नए मध्य पूर्व युद्ध की तरफ संकेत दे रहा है। वहीं जून महीने में ईरान ने एक अमेरिकी निगरानी ड्रोन को मार गिराए गिराया था।

Next Story
Share it
Top