Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Russia Ukraine War: बूचा शहर में हुए नरसंहार को देख राष्ट्रपति जेलेंस्की की आंखों में आए आंसू, रूस से बातचीत के लिए बनाया प्रतिनिधिमंडल

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, बूचा में हुए नरसंहार को देख राष्ट्रपति जेलेंस्की की आंखों में आंसू आ गए। जिसके बाद उन्होंने रूस से सुरक्षा पर बातचीत के लिए एक प्रतिनिधिमंडल तैयार किया है।

Russia Ukraine War: बूचा शहर में हुए नरसंहार को देख राष्ट्रपति जेलेंस्की की आंखों में आए आंसू, रूस से बातचीत के लिए बनाया प्रतिनिधिमंडल
X

यूक्रेन और रूस (Ukraine Russia) के बीच जारी 40 दिनों के युद्ध में अब सबसे ज्यादा चर्चा बूचा शहर की हो रही है। बूचा शहर की तस्वीरें जो भी देख और खबर सुन रहा है, वो सहम जा रहा है। इसी बीच बूचा शहर में हुए नरसंहार के देखने के लिए राष्ट्रपति वोलोडिमीर जेलेंस्की पहुंचे। जिन्होंने इस घटना की कड़ी निंदा की है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, बूचा में हुए नरसंहार को देख राष्ट्रपति जेलेंस्की की आंखों में आंसू आ गए। जिसके बाद उन्होंने रूस से सुरक्षा पर बातचीत के लिए एक प्रतिनिधिमंडल तैयार किया है। उम्मीद है कि जल्द ही पुतिन और जेलेंस्की की मुलाकात हो। वहीं खबर है कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की संबोधित कर सकते हैं।

रूसी सेना की वापसी के बाद यूक्रेन के बुचा शहर की सड़कों पर बिखरे मिले शवों के बाद जनता में आक्रोश है। रूसी संसद के अध्यक्ष का कहना है कि पश्चिम ने रूस को बदनाम करने के लिए बूचा का मंचन किया। यूक्रेन के बुचा शहर में नागरिकों की हत्या पश्चिम द्वारा रूस को बदनाम करने की एक कोशिश है। रूस के संसद के निचले सदन ड्यूमा के स्पीकर ने साफ कहा कि बूचा में स्थिति रूस को बदनाम करने के उद्देश्य से उकसाने वाली है।

दूसरी तरफ अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने सोमवार को युद्ध अपराधों के मुकदमों और रूस पर अधिक प्रतिबंधों का आह्वान किया। यूरोपीय संघ ने कहा कि यूक्रेन की राजधानी के पास सामूहिक शवों के बाद संभावित युद्ध अपराधों के सबूत इकट्ठा करने के लिए वह जांचकर्ताओं की एक टीम भेजने के लिए तैयार है। 40 दिनों में यूक्रेन में रूस को काफी नुकसान हुआ है। रूस के 18,500 जवान युद्ध में मारे जा चुके हैं और 676 टैंक बर्बाद हो चुके हैं।

और पढ़ें
Next Story