Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

स्पेसएक्स ने रचा इतिहास: 4 आम लोगों को अंतरिक्ष में भेजा, 3 दिन तक पृथ्वी की कक्षा में रहेंगे

कंपनी ने भारतीय समयानुसार सुबह तड़के 5:32 बजे पहली बार 4 आम लोगों को अंतरिक्ष में भेजा है। यह सभी 3 दिन तक पृथ्वी ( Earth's) की कक्षा में रहेंगे।

स्पेसएक्स ने रचा इतिहास: 4 आम लोगों को अंतरिक्ष में भेजा, 3 दिन तक पृथ्वी की कक्षा में रहेंगे
X

बिजनेसमैन एलन मस्क (Businessman Elon Musk) की अमेरिकी एयरोस्पेस कंपनी स्पेसएक्स (SpaceX) ने बीती रात चार आम लोगों को अंतरिक्ष (space) में भेजकर इतिहास रच दिया है। स्पेसएक्स ने इंस्पिरेशन 4 (Inspiration 4) मिशन को दुनिया के पहले ऑल-सिविलियन क्रू (all-civilian crew) के साथ अंतरिक्ष में लॉन्च कर एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है।

कंपनी ने भारतीय समयानुसार सुबह तड़के 5:32 बजे पहली बार 4 आम लोगों को अंतरिक्ष में भेजा है। यह सभी 3 दिन तक पृथ्वी ( Earth's) की कक्षा में रहेंगे। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, ये चारों आम (4 common people) यात्री पृथ्वी की सतह से 575 किमी की ऊंचाई पर यात्रा कर रहे हैं। इस मिशन की खास बात है कि इसमें एक भी पेशेवर अंतरिक्ष यात्री (Astronaut) नहीं है। इस मिशन को इंस्पिरेशन 4 नाम दिया गया है। वर्ष 2009 के बाद पहली बार इंसान इतनी ऊंचाई पर होगा।

जानकारी के अनुसार, नासा (NASA) के फ्लोरिडा (Florida) में मौजूद कैनेडी स्पेस रिसर्च सेंटर (Kennedy Space Research Center) से रॉकेट को लॉन्च किया किया है। इस मिशन के बाद केवल सरकार (government) द्वारा प्रायोजित अंतरिक्ष यात्रियों के बजाए आम लोगों (common man) के लिए मानव अंतरिक्ष यान (human spaceflight) के एक नए युग की शुरुआत होने की उम्मीद है।

2009 के बाद पहली बार है कि इंसान इतनी ऊंचाई

जानकारी के लिए आपको बता दें वर्ष 2009 के बाद पहली बार है कि इंसान (human) इतनी ऊंचाई पर है। स्पेसएक्स का ड्रैगन कैप्सूल (SpaceX's Dragon capsule) लिफ्टऑफ के 12 मिनट बाद फाल्कन 9 रॉकेट (9 rocket) के दूसरे चरण से अलग हो गया, जिसके बाद एयरोस्पेस कंपनी (aerospace company) ने बताया कि नागरिक दल को सफलतापूर्वक कक्षा में लॉन्च किया गया था। इस मिशन को 38 साल के अरबपति और परोपकारी जारेड इसाकमैन ने फंड किया है, वह शिफ्ट 4 पेमेंट्स इंक के सीईओ (CEO of Shift 4 Payments) हैं। वह स्पेसफ्लाइट के मिशन कमांडर भी हैं, जिन्होंने प्रतियोगिता के जरिए बाकी क्रू को खुद चुना है।

और पढ़ें
Next Story