Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Singapore Covid Update: सिगापुर में कोरोना का नया म्यूटेंट मिलते ही बंद किये गये स्कूल, अब बच्चों में आ रहा संक्रमण

कोरोना का नया म्यूटेंट बी.1.1.67 वेरिएंट आ गया है। यह बच्चों पर बहुत ज्यादा और खराब असर डाल रहा है। इसकी वजह से सरकार ने स्कूलों को बंद कर दिया है।

Singapore Covid Update: सिगापुर में कोरोना का नया म्यूटेंट मिलते ही बंद किये गये स्कूल, अब बच्चों में आ रहा संक्रमण
X

भारत कोरोना की दूसरी लहर से जुझ रहा है तो वहीं सिंगापुर में कोरोना का एक और वेरिएंट आ गया है। कोरोना का यह म्यूटेंट बच्चों के लिए बहुत ही घातक है। इसका दावा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी किया। हालांकि उनके इस बयान के बाद काफी ट्रोल किया गया तो वहीं सिंगापुर में स्कूलों छात्रों के अभिभावकों ने अपने बच्चों की कड़ी देखभाल शुरू कर दी है। इतना ही नहीं कोरोना संक्रमण की स्थिती और घातक न हो इसके लिए सिंगापुर में स्कूलों को बंद कर दिया गया है।

दरअसल, सिंगापुर सरकार ने हाल ही में कहा था कि कोरोना का नया म्यूटेंट बी.1.1.67 वेरिएंट आ गया है। यह बच्चों पर बहुत ज्यादा और खराब असर डाल रहा है। इसकी वजह से सरकार ने स्कूलों को बंद कर दिया है। साथ ही यहां युवाओं के वैक्सीनेशन की तैयारी शुरू कर दी गई है। सिंगापुर के शिक्षा मंत्री चान चुन सिंग ने कहा कि कोरोना वायरस के कुछ म्यूटेशन बहुत ज्यादा एक्टिव होते हैं। यह छोटे बच्चों को बहुत नुकसान पहुंचा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के इस नये म्यूटेंट से संक्रमित बच्चों में से अभी कोई गंभीर रूप से बीमार नहीं है। वहीं कुछ बच्चों में इसके हल्के लक्षण हैं।

संक्रमित बच्चों का नहीं है आंकड़ा

सिंगापुर के स्वास्थ्य मंत्री ओंग ये कुंग ने चिकित्सा सेवा के निदेशक केनेथ माक के हवाले से कहा कि कोरोना का नया म्यूटेंट B.1.617 बच्चों पर बहुत ज्यादा असर डाल रहा है। सिंगापुर में कोविड के नए वेरिएंट से कितने बच्चे संक्रमित हुए हैं, अभी तक उनके पास इसका कोई आधिकारिक रिकॉर्ड नहीं हैं। वहीं बता दें कि सिंगापुर में बीते साल सितंबर के बाद पहली बार हाल ही में सबसे ज्यादा 38 नये मामले सामने आये है। इन नये मामलों में 4 बच्चे भी शामिल हैं। इससे संक्रमित होने वाले सभी बच्चे एक ट्यूशन सेंटर में एक साथ पढ़ते थे। वहीं इस संक्रमण से लड़ने के लिए सिंगापुर में फाइजर और मार्डर्ना की वैक्सीन लगाई जा रही है।

Next Story