Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कनाडा में सिख नेता रिपुदमन मलिक की गोली मारकर हत्या, विमान बम धमाके में आया था नाम

रिपुदमन सिंह मलिक के रिश्तेदार जसपाल सिंह ने घटना की पुष्टि करते हुए कहा कि हमें नहीं पता कि रिपुदमन को किसने मारा है। मलिक की छोटी बहन कनाडा पहुंच रही है।

कनाडा में सिख नेता रिपुदमन मलिक की गोली मारकर हत्या, विमान बम धमाके में आया था नाम
X

कनाडा (Canada) में रहने वाले सिख नेता रिपुदमन सिंह मलिक (Ripudaman Singh Malik Murder) की गोली मारकर हत्या कर दी गई। कनाडा के ब्रिटिश कोलंबिया प्रांत (Province of British Columbia) में गुरुवार सुबह उनकी हत्या कर दी गई। रिपुदमन सिंह मलिक (Sikh leader Ripudaman Singh Malik) का नाम 1985 के एयर इंडिया फ्लाइट अपहरण (Air India Flight Hijacking) मामले में आया था। इस घटना में विमान में सवार सभी लोगों की बम विस्फोट से हवा में ही मौत हो गई। बाद में मलिक को इस मामले में बरी कर दिया गया था। बरी होने से पहले मलिक ने चार साल जेल में बिताए थे। फिर उन्होंने कानूनी शुल्क के रूप में 9.2 मिलियन डॉलर की मांग की थी। लेकिन ब्रिटिश कोलंबिया के एक न्यायाधीश ने मुआवजे के उनके दावों को खारिज कर दिया था।

रिपुदमन सिंह मलिक के रिश्तेदार जसपाल सिंह ने घटना की पुष्टि करते हुए कहा कि हमें नहीं पता कि रिपुदमन को किसने मारा है। मलिक की छोटी बहन कनाडा पहुंच रही है। पुलिस के मुताबिक, रिपुदमन मलिक को गुरुवार सुबह करीब नौ बजे कार्यालय के बाहर नजदीक से गोली मार दी गई। जिस वजह से उसका बच पाना नामुमकिन था। सूत्रों के मुताबिक, जिस जगह रिपुदमन मलिक की हत्या हुई थी, वहां से कुछ दूरी पर एक जली हुई कार भी मिली है। हालांकि पुलिस इन दोनों घटनाओं से अभी तक कोई संबंध स्थापित नहीं कर पाई है। कहा जाता है कि यह टारगेट किलिंग की घटना हो सकती है। प्लान के तहत इस घटना को अंजाम दिया गया हो सकता है। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

रिपुदमन सिंह मलिक को कथित तौर पर एयर इंडिया की उड़ान बमबारी की साजिश में नामित किया गया था। वर्ष 1985 में हुई इस घटना में एयर इंडिया की फ्लाइट नंबर 182 जिसे कनिष्क के नाम से भी जाना जाता है। कनिष्क विमान ने 23 जून 1985 को कनाडा से भारत के लिए उड़ान भर रही थी। उस समय आयरलैंड के तट पर पहुंचते ही विमान में जोरदार धमाका हुआ था। इस घटना में विमान में सवार सभी 329 लोगों की मौत हुई थी। मरने वालों में यात्रियों के साथ चालक दल के सदस्य भी शामिल थे।

इस घटना में जान गंवाने वालों में 280 कनाडाई नागरिक थे। इस हादसे में 29 परिवार पूरी तरह तबाह हो गए थे। जबकि मरने वालों में 86 बच्चे भी शामिल थे। इन बच्चों की उम्र 12 साल से कम थी। जानकारी के लिए आपको बता दें कि रिपुदमन सिंह मलिक कथित तौर पर आतंकवादी संगठन बब्बर खालसा से जुड़ा था। इस संगठन पर पंजाब में कई बम विस्फोट करने और निर्दोष लोगों की हत्या करने का आरोप है। मलिक का संबंध बब्बर खालसा के आतंकी तलविंदर सिंह परमार से भी बताया जाता है। परमार को एयर इंडिया के फ्लाइट बम धमाकों का मास्टरमाइंड माना जाता है। इस संगठन को कनाडा, भारत, अमेरिका समेत कई देशों ने बैन किया है।

और पढ़ें
Next Story