Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Russia Ukraine War: जानें क्या होता है केमिकल अटैक... जिंदगी बचना है संभव, रूस करने जा रहा इस्तेमाल!

अब खबर है कि इस युद्ध के दौरान रूस यूक्रेन के खिलाफ केमिकल अटैक (Chemical Attack) कर सकता है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने चेतावनी दी है कि अब रूस यूक्रेन पर केमिकल अटैक की तैयारी कर रहा है। बाइडेन ने साफ कहा कि अगर ऐसा हुआ तो इसके परिणाम भुगतने होंगे।

Russia Ukraine War: जानें क्या होता है केमिकल अटैक... जिंदगी बचना है संभव, रूस करने जा रहा इस्तेमाल!
X

Russia Ukraine War: जानें क्या होता है केमिकल अटैक... जिंदगी बचना है संभव, रूस करने जा रहा इस्तेमाल!

रूस और यूक्रेन (Russia Ukraine) के बीच 27 दिनों से युद्ध जारी है। अभी तक कई दौर की वार्ता हो चुकी हैं। लेकिन कोई निर्णय नहीं निकल रहा है। यूक्रेन रूस के आगे आत्मसमर्पण करने को तैयार नहीं है। ऐसे में अब खबर है कि इस युद्ध के दौरान रूस यूक्रेन के खिलाफ केमिकल अटैक (Chemical Attack) कर सकता है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने चेतावनी दी है कि अब रूस यूक्रेन पर केमिकल अटैक की तैयारी कर रहा है। बाइडेन ने साफ कहा कि अगर ऐसा हुआ तो इसके परिणाम भुगतने होंगे।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि भारत को छोड़, उसके सभी सहयोगी देश हमारा साथ दे रहे हैं। रूस पर सभी प्रतिबंध लगा रहे हैं। क्वाड संगठन के सहयोगियों ने भी अमेरिका का समर्थन किया है। लेकिन इन सबके बीच भारत अभी भी कह रहा है कि इस मामले को बातचीत के माध्यम से सुलझाना चाहिए। इसी दौरान बाइडेन ने खुलासा किया कि रूस यूक्रेन के खिलाफ अब केमिकल अटैक कर सकता है।

जानें क्या होता है केमिकल अटैक और कैसे बचें

दुनिया के कई देशों में केमिकल हमले हो चुके हैं। सबसे पहले समझते हैं कि आखिर कैमिकल अटैक होता क्या है और इससे बचना संभव है या नहीं। जहरीली गैस, द्रव या ठोस पदार्थों को कैमिकल कहा जाता है, जो जानबूझकर पर्यावरण में छोड़ दिया जाता है। ये गैसें मौजूदा वातावरण में जहर का काम करती हैं। इसी को केमिकल अटैक कहा जाता है।

इससे बचने का तरीका है भी और ज्यादा होने पर नहीं भी है। केमिकल अटैक के दौरान पीड़ितों की आंखों में जलन होना, सांस लेने में दिक्कत, दम घुटना आदि लक्ष्ण महसूस होते हैं। ऐसे माहौल में लोगों का रहना मुश्किल हो जाता है और इसकी वजह से मौत भी हो जाती है। इस हमले के खुद को बचाने के लिए आपको पानी का छिड़काव या पानी के फव्वारे का छिड़काव करते रहें। हल्का होने पर ऐसे बचाव के लिए किया जा सकता है, लेकिन ज्यादा होने पर या आपातकाल में संभव नहीं है। ऐसे में आपको वो जगह ही छोड़ देनी चाहिए। सीरिया में विद्रोहियों ने इसका इस्तेमाल किया। इसके अलावा जापान, इराक, बेल्जियम जैसे देशों में केमिकल हथियार का इस्तेमाल हो चुका है। खूंखार आतंकी संगठन आईएसआईएस केमिकल अटैक करने में सबसे ज्यादा सक्षम है।

और पढ़ें
Next Story