Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राष्ट्रपति जो बाइडेन बोले- अमेरिका यूक्रेन के साथ खड़ा है, हमारे सहयोगी सामूहिक शक्ति के साथ नाटो क्षेत्र के हर इंच की रक्षा करेंगे

अमेरिका (America) और हमारे सहयोगी सामूहिक शक्ति के साथ नाटो (NATO) क्षेत्र के हर इंच की रक्षा करेंगे। यूक्रेनियन साहस के साथ लड़ रहे हैं। पुतिन को युद्ध (War) के मैदान में लाभ हो सकता है, लेकिन उन्हें लंबे समय तक इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी।

राष्ट्रपति जो बाइडेन बोले- अमेरिका यूक्रेन के साथ खड़ा है, हमारे सहयोगी सामूहिक शक्ति के साथ नाटो क्षेत्र के हर इंच की रक्षा करेंगे
X

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन (US President Joe Biden) ने भारतीय समयानुसार आज सुबह 7:30 बजे स्टेट ऑफ द यूनियन को संबोधित किया। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, अमेरिकी (America) राष्ट्रपति जो बाइडेन ने स्टेट ऑफ द यूनियन (State of the Union) को संबोधित करते हुए कहा कि अमेरिका (US) यूक्रेन (Ukraine) के साथ खड़ा है।

रूस को लंबे समय तक कीमत चुकानी पड़ेगी

अमेरिका (America) और हमारे सहयोगी सामूहिक शक्ति के साथ नाटो (NATO) क्षेत्र के हर इंच की रक्षा करेंगे। यूक्रेनियन साहस के साथ लड़ रहे हैं। पुतिन को युद्ध (War) के मैदान में लाभ हो सकता है, लेकिन उन्हें लंबे समय तक इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी।

100 करोड़ डॉलर की मदद देने की घोषणा की

हम सभी रूसी फ्लाइटों (Russian flights) के लिए अमेरिकी एयरस्पेस को बंद करने में अपने सहयोगियों के साथ शामिल होंगे। इसके अलावा राष्ट्रपति ने कहा कि पूरा यूरोपीय संघ मिलकर काम कर रहा है। हम पुतिन और उनके सहयोगियों की संपत्ति को भी जब्त कर रहे हैं। इसके अलावा उन्होंने यूक्रेन को 100 करोड़ डॉलर की मदद देने की घोषणा की है।

हम कोविड टेस्ट टू ट्रीट पहल शुरू कर रहे

इसके अलावा राष्ट्रपति ने कहा कि हमारी अर्थव्यवस्था ने पिछले साल अमेरिका में 6.5 मिलियन से अधिक नए रोज़गार सृजित किए। एक साल में पहले से कहीं अधिक नौकरियां सृजित हुईं। हम कोविड टेस्ट टू ट्रीट पहल शुरू कर रहे हैं। ताकि लोग किसी फार्मेसी में टेस्ट करवा सकें और यदि वे पॉजिटिव हैं तो बिना किसी लागत के एंटीवायरल दवा मौके पर ही प्राप्त कर सकते हैं।

475 मिलियन वैक्सीन की डोज 112 देशों को भेजी गईं

अमेरिकी राष्ट्रपति ने आगे कहा कि हमने 475 मिलियन कोरोना वैक्सीन की डोज 112 देशों में भेज चुके हैं। हम इस काम को करते रहेंगे। क्योंकि, वैक्सीनेशन अगर बंद हो जाएगा तो कोरोना वायरस संक्रमण फिर से बढ़ जाएगा। हमने कोरोना वायरस की वजह से बहुत लोगों को खोया है।

और पढ़ें
Next Story