Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राष्ट्रपति जो बाइडेन ने स्पष्ट तौर पर कहा- भारत की संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में स्थायी सदस्यता होनी चाहिए: विदेश सचिव

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला (Harsh Vardhan Shringla) ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अमेरिका यात्रा (Visit) के दूसरे दिन उन्होंने अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन के साथ द्विपक्षीय बैठक (Bilateral Meeting) की। राष्ट्रपति जो बाइडेन के कार्यभार संभालने के बाद प्रधानमंत्री मोदी की उनसे पहली मुलाकात थी।

राष्ट्रपति जो बाइडेन ने स्पष्ट तौर पर कहा- भारत की संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में स्थायी सदस्यता होनी चाहिए: विदेश सचिव
X

विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला (Foreign Secretary Harsh Vardhan Shringla) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) की अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन (US President Joe Biden) के साथ बैठक कर प्रेस कॉन्फ्रेंस में बयान दिया है। भारतीय समयनुसार शुक्रवार देर रात को विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन को लगता है कि भारत को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (United Nations Security Council) में स्थायी सीट मिलनी चाहिए।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला (Harsh Vardhan Shringla) ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अमेरिका यात्रा (Visit) के दूसरे दिन उन्होंने अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन के साथ द्विपक्षीय बैठक (Bilateral Meeting) की। राष्ट्रपति जो बाइडेन के कार्यभार संभालने के बाद प्रधानमंत्री मोदी की उनसे पहली मुलाकात थी।

राष्ट्रपति जो बाइडेन (President Joe Biden) ने कोरोना वायरस (Covid-19) की दूसरी लहर के दौरान भारत सरकार (Indian Government) द्वारा लिए गए फैसलों की सराहना की। उन्होंने भारत सरकार द्वारा वैक्सीन का निर्यात फिर से शुरू करने के फैसले का स्वागत किया है। भारत-अमेरिका डिफेंस संबंधों (India-US Defense Relations) पर चर्चा हुई। दोनों पक्षों द्वारा डिफेंस (Defense) में नए हाई टेक्नोलॉजी प्रोजेक्ट (New High Technology Projects) पर साथ काम करने की इच्छा जताई गई।

राष्ट्रपति जो बाइडेन ने स्पष्ट तौर पर व्यक्त किया है कि भारत की संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में स्थायी सदस्यता होनी चाहिए। दोनों देशों (भारत-अमेरिका) ने इस बात पर सहमति जताई कि आतंकवाद एक महत्वपूर्ण मुद्दा है। दोनों देशों ने आतंकवाद से लड़ने के लिए प्रतिबद्धता जताई। दोनों देशों (भारत-अमेरिका) ने अफगानिस्तान में आतंकवाद से लड़ाई के महत्व पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि तालिबान को UNSC प्रस्ताव 2593 के प्रति अपनी प्रतिबद्धता का ध्यान रखना चाहिए और अफगान क्षेत्र का इस्तेमाल आतंकी गतिविधियों के लिए नहीं होना चाहिए।

Next Story