Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

श्रीलंका: पुलिस ने हिंसक झड़पों के सिलसिले में 1500 लोगों को किया गिरफ्तार किया, 10 की हुई थी मौत

रिपोर्ट के अनुसार, श्रीलंका पुलिस के प्रवक्ता एसएसपी निहाल थलडुवा ने कहा, हिंसा के सिलसिले में 1500 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। बीते 24 घंटों में 152 लोगों को गिरफ्तार किया गया।

श्रीलंका: पुलिस ने हिंसक झड़पों के सिलसिले में 1500 लोगों को किया गिरफ्तार किया, 10 की हुई थी मौत
X

श्रीलंकाई पुलिस (Sri Lankan police) ने इस महीने की शुरुआत में देश (Sri Lanka) में सरकार विरोधी और सरकार समर्थक प्रदर्शनकारियों के बीच हुई हिंसक झड़पों (clashes) के सिलसिले में अब तक कम से कम 1,500 लोगों (1,500 people arrested) को गिरफ्तार किया है। हिंसक झड़पों में कम से कम 10 लोग मारे गए और 200 से अधिक घायल हुए थे।

रिपोर्ट के अनुसार, श्रीलंका पुलिस के प्रवक्ता एसएसपी निहाल थलडुवा ने कहा, हिंसा के सिलसिले में 1500 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। बीते 24 घंटों में 152 लोगों को गिरफ्तार किया गया। श्रीलंका के अपराध अन्वेषण विभाग की ओर से बीते शनिवार को पुलिस महानिरीक्षक चंदना डी विक्रमरत्ना से पूछताछ की गई थी। यह पूछताछ 9 मई को उनके कदम को लेकर की गई है जिससे सरकार समर्थकों और विरोधियों के बीच हिंसा हुई थी।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि श्रीलंका के सबसे बड़े आर्थिक संकट की वजह से पूर्व प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे को अपदस्थ किए जाने की मांग को लेकर शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों पर राजपक्षे के समर्थकों ने हमला कर दिया था, जिसके बाद 9 मई 2022 को हिंसा भड़क गई थी।

रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले हफ्ते की शुरुआत में गाले जिले से सांसद रमेश पथिराणा ने संसद को बताया कि डीआईजी और पश्चिमी प्रांत के प्रभारी देशबंधु तिन्नाकून ने राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे को सूचित किया था कि विक्रमरत्ना ने उन्हें आदेश दिया था कि गाले की तरफ आ रही उस भीड़ को नहीं रोका जाये, जो सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों पर हमला करने जा रही थी।

सासंसद ने कहा, राष्ट्रपति ने स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए कार्रवाई करने को कहा। राष्ट्रपति के निर्देश के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे गए। लेकिन उस समय तक बड़ी संख्या में लोग घायल हो चुके थे और कम से कम 10 लोगों की मौत हो चुकी थी।

और पढ़ें
Next Story