Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पाकिस्तान में होते रहे हैं विमान क्रैश, एटीआर-42 विमान को जब हरी झंडी दिखाई गई तब दी गई थी बकरे की बलि

विमान ने इस्लामाबाद से शाम 6:40 बजे मुल्तान के लिए उड़ान भरी थी। यह विमान इस्लामाबाद वापस 9:45 बजे आ गया था।

पाकिस्तान में होते रहे हैं विमान क्रैश, एटीआर-42 विमान को जब हरी झंडी दिखाई गई तब दी गई थी बकरे की बलि

पाकिस्तान के करांची में शुक्रवार को रिहायशी इलाके में एक पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआईए) का एक पैसेंजर विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। इस हादसे में अब तक 97 लोगों की मौत हो गई और दो लोगों के बचने की पुष्टि हुई है। बताया जा रहा है कि विमान में कुल 99 लोग सवार थे। पीआईए की फ्लाइट पीके 8303 लाहौर से कराची आ रही थी। इस दुर्घटना में 7 क्रू मेंबर समेत 92 सवारियों सवार थे। जिसमें 52 पुरुष 31 महिलाएं और 9 बच्चे यात्रा कर रहे थे। यह कोई पहली बार नहीं जब पारकिस्तान में पीआईए का विमान दुर्घटनाग्रस्त हुए है।

वहीं इससे पहले 7 दिसंबर साल 2016 को पीआईए का एक पैसेंजर विमान (एटीआर-42) क्रैश हुआ था। इस विमान हादसे में 47 यात्रियों की मौत हो गई थी। इस घटना के सीसीए ने तत्काल सभी एटीआर-42 विमानों की उड़ान पर रोक लगा दी थी। खबरों से मिली जानकारी के मुताबिक एटीआर-42 विमानों को शेकडाउन टेस्ट के लिए जमीन पर खड़ा कर दिया गया था।

बकरे की दी गई बलि

बताया जाता है कि 19 दिंसबर साल 2016 में एटीआर-42 विमान को बेनजीर भुट्टो इंटरनेशनल एयरपोर्ट से उड़ान भरने के लिए हरी झंडी दिखाई गई थी। जब यह विमान उड़ने के लिए तैयार था तब कर्मचारियों ने इस विमान के पास एक काले बकरे की बलि दी थी। यह बलि इसलिए दी गई थी कि 12 दिन बाद होने वाली यह पहली उड़ान सफल और सुरक्षित रहे।

विमान ने इस्लामाबाद से शाम 6:40 बजे मुल्तान के लिए उड़ान भरी थी। यह विमान इस्लामाबाद वापस 9:45 बजे आ गया था। पीआईए के प्रवक्ता ने बकरे की बलि पर सफाई पेश करते हुए कहा था कि बकरे की बलि देना कर्मचारियों का अपना निर्णया था, इसमें एयरलाइंस मैनेजमेंट का कोई हाथ नहीं है।

एटीआर-42 विमानों पर रोक लगने से इन शहरों की उड़ाने बाधित रहीं

बताया जा रहा है कि जब सीसीए ने एटीआर-42 विमानों पर रोक लगाई थी। तब मोहनजोदारो, ग्वादर, जोब, तुरबद, बहावलपुर, पंजगुर, चित्रल और गिलगिट जैसे शहरों से कई उड़ाने कई दिनों तक बाधित रहीं थी। हालांकि बकरे की इस बलि के कुछ दिनों बाद पाकिस्तान ने अपने सभी 10 एटीआर-42 विमानों को टेस्ट में क्लियरेंस दिया और वे फिर उड़ान भरने लगे।

साल 2006 में भी हुआ था विमान क्रैश

मीडिया रिपो्र्ट्स के मुताबिक पीआईए का एक विमान साल 2006 में क्रैश हुआ था। इस विमान हादसे में 44 यात्रियों की मौत हुई थी। इसके बाद यूरोपीय संघ ने साल 2007 में पीआईए विमानों की यूरोप में उड़ान पर रोक भी लगा दी थी।

साल 2010 में भी हुआ था विमान क्रैश

जानकारी के लिए आपको बता दें कि साल 2010 में पाकिस्तान में इस्लामाबाद के निकट प्राइवेट एयरलाइंस एयरब्लू का यात्री विमान दुर्घनाग्रस्त हो गया था। इस हादसे में सभी 152 यात्रियों की मौत हो गई थी। वहीं इसके दो साल बाद यानी 2012 में पाकिस्तान भोजा एयरलाइंस का बोइंग-737 विमान रावलपिंडी की ओर जाते हुए क्रैश हो गया था। इस हादसे में 121 यात्री और 6 क्रू मेंबर्स की मौत हो गई। बताया गया था कि यह विमान खराब मौसम के कारण क्रेश हुआ था।

Next Story
Top