Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हाथ-पैर ने छोड़ दिया प्रेमी का साथ और प्रेमिका अब भी ताउम्र साथ निभाने के लिए है तैयार, कहानी पढ़कर आ जाएगा रोना

पाकिस्तान से एक अनोखी प्रेम कहानी (Love Story) सामने आई है। कहते हैं कि प्यार तो सब लोग कर लेते हैं लेकिन उसे निभाना सबके बसका नहीं। कुछ लोग प्यार तो कर लेते हैं लेकिन उसे निभा नहीं पाते हैं। आपको बता दें कि दाऊद सिद्दीकी और सना की प्रेम कहानी उससे बिलकुल उलट है।

हाथ-पैर ने छोड़ दिया प्रेमी का साथ और प्रेमिका अब भी ताउम्र साथ निभाने के लिए तैयार
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

पाकिस्तान से एक अनोखी प्रेम कहानी (Love Story) सामने आई है। कहते हैं कि प्यार तो सब लोग कर लेते हैं लेकिन उसे निभाना सबके बसका नहीं। कुछ लोग प्यार तो कर लेते हैं लेकिन उसे निभा नहीं पाते हैं। आपको बता दें कि दाऊद सिद्दीकी और सना की प्रेम कहानी उससे बिलकुल उलट है। बता दें कि पिछले नवंबर दाऊद के परिवार वालों ने सना और उसके घरवालों को खाने पर बुलाया था, लेकिन सना के पहुंचने से पहले एक बड़ा हादसा हुआ जिसने दाऊद और सना की जिंदगी पूरी तरह बदल दी। जिस रात सना और उसके परिजन वहां आने वाले थे उसी रात दाऊद बिजली के खंभे से जा टकराया, जिसमें वह पूरी तरह जल गया। किसी तरह लोग उसे लेकर हॉस्पिटल (Hospital) पहुंचे लेकिन डॉक्टर ने उसकी हालत देखकर जिन्ना हॉस्पिटल रेफर कर दिया। इसके बाद बर्न यूनिट में भर्ती कराया गया। डॉक्टर ने उसे देखने के बाद कहा कि अगर दाऊद को जिंदा रखना है तो उसके दोनों हाथ और एक पैर काटने पड़ेंगे।

इस हादसे की खबर जैसे ही सना को मिली वह अपनी चचेरी बहन के साथ अपने प्यार से मिलने सीधी हॉस्पिटल पहुंच गई। उसने जब दाऊद को देखा तो हैरान रह गई। दाऊद का कहना है कि उसके दिमाग में तुरंत आया कि सना का क्या होगा? अगर वह उसे छोड़ देती है तो क्या होगा क्योंकि, उसके बगल में एक और मरीज था, जिसकी एक दुर्घटना में उंगली चली गई थी इसी कारण उसके मंगेतर ने उसे छोड़ दिया था। लेकिन, सना ने कुछ अलग ही सोच रखा था। सना ने कहा कि वह दाऊद को कभी नहीं छोड़ेगी। चाहे कुछ भी हो जाए वह उसके साथ ही रहेगी। 40 दिन तक डॉक्टर यह कहते रहे कि दाऊद का बचना असंभव है, लेकिन सना हिम्मत नहीं हारी और लगातार भगवान से प्रार्थना करती रही। परिणाम ये हुआ कि दाऊद बच गए।

इस हादसे में दाऊद सिद्दकी तो बच गया लेकिन अब सना के घर वाले दाऊद से शादी करने को तैयार नहीं थे। परंतु सना जिद पर अड़ी रही और दाऊद के साथ ही शादी करने का फैसला किया। सना ने कहा कि वह उसकी देखभाल करेगी और कभी उसका साथ नहीं छोड़ेगी। दोनों ने एक चर्च में शादी करने का फैसला किया, लेकिन यह कठिन था। लिहाजा, उन्होंने अदालत का दरवाजा खटखटाया। दोनों ने शादी कर ली और साथ रहने लगे। सना ने काफी अच्छे से दाऊद का ध्यान रख रही है। यह लव स्टोरी प्यार करने वालों के लिए एक मिशाल बन गई है।

Next Story