Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

PAK : इमरान खान के खिलाफ पेश हुआ अविश्वास प्रस्ताव, 31 मार्च को होगा फैसला

पाकिस्तान (Pakistan) की नेशनल असेंबली (National Assembly) में प्रतिपक्ष और पीएमएल-एन (PML-N) के अध्यक्ष शाहबाज शरीफ (Shahbaz Sharif) ने सोमवार को निचले सदन में प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव ( No-confidence motion) पेश किया।

PAK : इमरान खान के खिलाफ पेश हुआ अविश्वास प्रस्ताव, 31 मार्च को होगा फैसला
X

पाकिस्तान (Pakistan) की नेशनल असेंबली (National Assembly) में प्रतिपक्ष और पीएमएल-एन (PML-N) के अध्यक्ष शाहबाज शरीफ (Shahbaz Sharif) ने सोमवार को निचले सदन में प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव ( No-confidence motion) पेश किया। उन्होंने कहा कि देश की जनता को इमरान खान नियाजी की सरकार पर भरोसा नहीं है, ऐसे में अविश्वास प्रस्ताव पर सरकार के खिलाफ मतदान होना चाहिए।

पाकिस्तान संसद के अध्यक्ष ने सदस्यों की गिनती के बाद कहा कि 161 सांसदों ने इस प्रस्ताव का समर्थन किया है। इसके बाद शाहबाज शरीफ ने इमरान खान के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को पढ़ा। इमरान खान सरकार के खिलाफ शुक्रवार को ही पाकिस्तान की संसद में अविश्वास प्रस्ताव पेश किया जाना था, लेकिन स्पीकर असद कैसर ने सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी।

बता दें प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ जारी माहौल के बीच विपक्षी दलों ने 8 मार्च को नेशनल असेंबली (National Assembly) के सचिवालय में नोटिस देकर 14 दिनों के भीतर अनिवार्य सत्र की मांग की थी, जिसके बाद देश में राजनीतिक अस्थिरता का माहौल गहरा गया। हालांकि विपक्ष द्वारा दी गई समय सीमा के तीन दिन बाद 25 मार्च को सत्र बुलाया गया था, लेकिन स्पीकर ने प्रस्ताव को पेश करने की अनुमति देने से इनकार कर दिया था।

विपक्षी दलों का आरोप है कि देश में आर्थिक संकट (Economic crisis) और बढ़ती महंगाई के लिए प्रधानमंत्री इमरान खान की सरकार जिम्मेदार है, इसलिए उन्हें कुर्सी पर बैठने का कोई अधिकार नहीं है। दरअसल, इमरान को गद्दी से हटाने के लिए विपक्ष पहले से ही अभियान चला रहा है, लेकिन पहली बार उसे सफलता मिलती दिख रही है, क्योंकि इमरान के खेमे के करीब दो दर्जन सांसदों ने भी उनसे मुंह मोड़ लिया है।

पाकिस्तानी नेशनल असेंबली (Pakistani National Assembly) में कुल 342 सदस्य हैं, जिसमें बहुमत का निशान 172 है। पीटीआई के नेतृत्व वाला गठबंधन 179 सदस्यों के समर्थन से बनाया गया था, जिसमें इमरान खान की पीटीआई में 155 सदस्य थे, और चार प्रमुख सहयोगी मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट-पाकिस्तान (पाकिस्तान) एमक्यूएम-पी), पाकिस्तान मुस्लिम लीग-कायद (पीएमएल-क्यू), बलूचिस्तान अवामी पार्टी (बीएपी) और ग्रैंड डेमोक्रेटिक अलायंस (जीडीए) के क्रमशः सात, पांच, पांच और तीन सदस्य हैं।

और पढ़ें
Next Story