Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पूर्व PM शिंजो आबे की हत्या करने के लिए हमलावर ने घर में बनाई थी 3-डी प्रिंटेड गन, जानिए कैसे किया गया तैयार

जापान (Japan) के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे (Shinzo Abe) को एक भाषण के दौरान गोली मार दी गई। जापान के एनएचके वर्ल्ड न्यूज के मुताबिक, तेत्सुया यामागामी नाम के हमलावर ने उनपर खुद बनाई गई देशी बंदूक से हमला किया। जिसे आरोपी ने अपने ही घर पर बनाया था।

पूर्व PM शिंजो आबे की हत्या करने के लिए हमलावर ने घर में बनाई थी 3-डी प्रिंटेड गन, जानिए कैसे किया गया तैयार
X

जापान (Japan) के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे (Shinzo Abe) को एक भाषण के दौरान गोली मार दी गई। जापान के एनएचके वर्ल्ड न्यूज के मुताबिक, तेत्सुया यामागामी नाम के हमलावर ने उनपर खुद बनाई गई देशी बंदूक से हमला किया। जिसे आरोपी ने अपने ही घर पर बनाया था। जापान में हथियारों को लेकर बहुत सख्त कानून हैं। यहां हर कोई हथियार नहीं रख सकता है।

इसलिए हमलावर ने यह बंदूक अपने घर पर ही बनाई थी। शुरूआती जांच में पता चला है कि हमलावर तेत्सुया यामागामी ने शिंजो आबे को मारने के लिए डक्ट टेप में लिपटे स्टील ट्यूब के साथ घर में बनी डबल बैरल गन का इस्तेमाल किया था। पुलिस अधिकारियों ने जानकारी दी है कि हमलावर ने पूर्व प्रधानमंत्री को गोली मारने के लिए अपनी खुद की डबल बैरल गन तैयार की थी।

घटनास्थल पर मौजूद एक गवाह मासाहिरो ओकुडा (Masahiro Okuda) ने कहा कि संदिग्ध हमलावर के हाथ में 20 सेंटीमीटर लंबा ब्लैक बॉक्स था, जो कैमरे के लेंस की तरह लग रहा था। जब शिंजो आबे (Shinzo Abe) भाषण दे रहे थे, तब वह उनके पीछे आया और उसी बॉक्स के जरिए शिंजो आबे पर दो बार फायरिंग की। फायरिंग (firing) के दौरान वहां सफेद धुआं फैल गया।

हमले के दौरान वहां मौजूद चश्मदीद ने बताया कि फायरिंग के बाद हमलावर ने अपनी बंदूक वहीं गिरा दी। वही ऑल जापान हंटिंग एसोसिएशन (All Japan Hunting Association) के अध्यक्ष योहेई सासाकी ने कहा कि संदिग्ध बंदूक की आवाज अन्य बंदूकों की आवाज से काफी अलग थी, इसे एक अल्पविकसित घरेलू पिस्तौल कहते हैं। उन्होंने बताया कि फायरिंग के बादबंदूके कसो सफेद धुंए निकला,जबकि बाकी सभी पिस्टल से काफी धुंआ निकलता है।

उन्होंने कहा कि अभी पूरी घटना की जांच की जा रही है लेकिन यह भी हो सकता है कि हमलावर ने फायरिंग के लिए काले डायनामाइट का इस्तेमाल किया हो। उन्होंने बताया कि आतिशबाजी में ब्लैक डायनामाइट का इस्तेमाल होता है। हमलावर ने जिस तरह से इस पूरे घटनाक्रम को अंजाम दिया है, उससे पता चलता है कि वह फायरिंग के लिए पूरी तरह तैयार था।

और पढ़ें
Next Story