Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अफगानिस्तानः IS-खुरासान ने ली कुंदुज में जुमे की नमाज के दौरान हुए धमाके की जिम्मेदारी, 100 लोगों की हुई थी मौत

अफगानिस्तान में तालिबान की सरकार (Taliban government) बनने के बाद यह देश में सबसे बड़ा हमला है। कुंदुज प्रांत के तालिबान (Taliban) के उप पुलिस प्रमुख (Police Chief) का कहना है कि यह हमला एक आत्मघाती हमलावर (suicide bomber) के द्वारा किया गया हो सकता है।

अफगानिस्तानः IS-खुरासान ने ली कुंदुज में जुमे की नमाज के दौरान हुए धमाके की जिम्मेदारी, 100 लोगों की हुई थी मौत
X

अफगानिस्तान (Afghanistan) के कुंदुज (Kunduz) में जुमे की नमाज के दौरान शुक्रवार को हुए धमाके करीब 100 लोगों की मौत हो गई थी और दर्जनों लोग घायल हो गए थे। अब इस हमले की जिम्मेदारी आईएस-खुरासान (IS-Khorasan) ने ली है। स्थानीय प्रशासन के मुताबिक, आईएस-खुरासान ने ये धमाका (Blast) हजारा शिया मस्जिद (Hazara Shia Mosque) को निशाना बनाकर किया गया था।

बता दें कि अफगानिस्तान में तालिबान की सरकार (Taliban government) बनने के बाद यह देश में सबसे बड़ा हमला है। कुंदुज प्रांत के तालिबान (Taliban) के उप पुलिस प्रमुख (Police Chief) का कहना है कि यह हमला एक आत्मघाती हमलावर (suicide bomber) के द्वारा किया गया हो सकता है। मैं अपने शिया भाइयों को विश्वास दिलाता हूं कि तालिबान उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए तैयार है।

गौरतलब है कि 3 अक्टूबर को काबुल (Kabul) में एक मस्जिद (mosque) के बाहर धमाका हुआ था। इस धामके में कई लोगों की मौत हुई थी। इस धामके की पुष्टि तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद (Taliban spokesman Zabiullah Mujahid) ने की थी। जबीउल्लाह मुजाहिद (Zabiullah Mujahid) ने अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करते हुए लिखा था कि मस्जिद के एंट्री गेट के बाहर यह धमाका हुआ है। उन्होंने बताया कि मुजाहिद की मां के लिए एक प्रार्थना सभा रखी गई थी, जिनका निधन बीते हफ्ते हो गया था।

साथ ही बताते चलें कि 26 अगस्त को आईएसआईएस-के (ISIS-K) ने काबुल (Kabul) में हामिद करजई अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट (Hamid Karzai International Airport) के बाहर आत्मघाती हमला किया था। इस हमले में 169 से ज्यादा लोग मारे गए थे। इन मरने वालों में 13 अमेरिकी सैनिक भी शामिल थे।

Next Story