Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

इंडोनेशिया में आतंकी हमला, गिरजाघर के बाहर हमलावर ने खुद को विस्फोट से उड़ाया, नौ लोग घायल

कैथोलिक पादरी विलहेल्मस तुलक ने बताया कि प्रार्थना के दौरान धमाके की तेज आवाज सुनी गई। पूर्वाह्न साढ़े दस बजे जब बम विस्फोट हुआ, तब वह ईस्टर से पहले के पवित्र सप्ताह की शुरुआत के मौके पर प्रार्थना सभा का नेतृत्व कर रहे थे। उन्होंने बताया कि जब विस्फोट हुआ तो गिरजाघर आने वालों का पहला समूह बाहर जा रहा था जबकि अन्य समूह अंदर आ रहा था।

इंडोनेशिया में आतंकी हमला, गिरजाघर के बाहर हमलावर ने खुद को विस्फोट से उड़ाया, नौ लोग घायल
X

इंडोनेशिया में आतंकी हमला

Indonesia Terrorist Attack इंडोनेशिया के सुलावेसी द्वीप (Sulawesi Island) पर रविवार की प्रार्थना के दौरान एक रोमन कैथोलिक गिरजाघर (Roman Catholic Church) के बाहर एक आत्मघाती हमलावर (Suicide Bomber) ने खुद को विस्फोट से उड़ा लिया। इस हमले में कम से कम नौ लोग घायल हो गए। हमले के दौरान गिरजाघर में बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे। पुलिस (Police) ने यह जानकारी दी। संबंधित एक वीडियो में दक्षिण सुलावेसी प्रांत के मकास्सर शहर में 'सैक्रेड हार्ट ऑफ जीसस कैथेड्रल' के प्रवेश द्वार पर जली हुई मोटरसाइकिल (Bikers) के पास मानव शरीर के बिखरे हुए अंग देखे गए। यह हमला ऐसे समय हुआ है जब दिसंबर में जेमाह इस्लामिया के नेता आरिस सुमरसोनो की गिरफ्तारी के बाद से ही इंडोनेशिया में अत्यधिक सतर्कता बरतने की चेतावनी है।

घायलों में कई सुरक्षाकर्मी और गिरजाघर आने वाले लोग शामिल

कैथोलिक पादरी विलहेल्मस तुलक ने बताया कि प्रार्थना के दौरान धमाके की तेज आवाज सुनी गई। पूर्वाह्न साढ़े दस बजे जब बम विस्फोट हुआ, तब वह ईस्टर से पहले के पवित्र सप्ताह की शुरुआत के मौके पर प्रार्थना सभा का नेतृत्व कर रहे थे। उन्होंने बताया कि जब विस्फोट हुआ तो गिरजाघर आने वालों का पहला समूह बाहर जा रहा था जबकि अन्य समूह अंदर आ रहा था। तुलक ने बताया कि गिरजाघर के सुरक्षाकर्मियों को संदेह है कि मोटरसाइकिल पर आए दो लोग गिरजाघर में प्रवेश करना चाहते थे। उनमें से एक ने खुद को विस्फोट से उड़ा लिया। घायलों में कई सुरक्षाकर्मी और गिरजाघर आने वाले लोग शामिल हैं।

पुलिस दोनों हमलावरों की पहचान करने में जुटी

राष्ट्रीय पुलिस प्रवक्ता आर्गो युवोनो ने कहा कि पुलिस दोनों हमलावरों की पहचान करने की कोशिश कर रही है जिन्होंने शक्तिशाली विस्फोटकों का इस्तेमाल किया। उन्होंने बताया कि पुलिस इस बात की तफ्तीश कर रही है कि क्या उनका संबंध प्रतिबंध जेमाह इस्लामिया के स्थानीय समूह से था। इंडोनेशिया के आतंकवाद रोधी दस्ते ने कई प्रांतों में करीब 64 संदिग्धों को हिरासत में लिया था। पुलिस तथा धार्मिक स्थलों पर हमलों की आशंका की खुफिया सूचना मिलने के बाद ये गिरफ्तारियां हुई थीं।

Next Story