Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भारत का तालिबान समर्थक देशों को कड़ा संदेश, जानें क्या कहा

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, यह भी कहा गया है कि सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि इस क्षेत्र में पड़ोसी देशों को आंतकवाद, अलगाववाद (separatism) और चरमपंथ का तो खतरा नहीं है।

भारत का तालिबान समर्थक देशों को कड़ा संदेश, जानें क्या कहा
X

भारत (India) के संयुक्त राष्ट्र में स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति (TS Tirumurti) ने रविवार को आतंक का समर्थन कर रहे देशों को भी कड़ा संदेश दिया है। टीएस तिरुमूर्ति ने कहा है कि अफगानिस्तान (Afghanistan) का अतीत उसका भविष्य नहीं हो सकता है। इस क्षेत्र में आतंकियों के ठिकाने और अभ्यारण्यों को तत्काल नष्ट करना चाहिए।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक भारत में साफ शब्दों में कहा है कि आतंकवादियों (terrorists) की सप्लाई चेन को भी तुरंत खत्म कर देना चाहिए। अब वक्त आ गया है, सुरक्षा परिषद (security Council) अफगानिस्तान में हिंसा (Violence) की समाप्ति के लिए ठोस कदम उठाए।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, यह भी कहा गया है कि सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि इस क्षेत्र में पड़ोसी देशों को आंतकवाद, अलगाववाद (separatism) और चरमपंथ का तो खतरा नहीं है। आतंकवाद (terrorism) को प्रश्रय देने या फडिंग करने वालों को भी जवाबदेह ठहराया जाने की आवश्यकता है।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि बीते हफ्ते अफगानिस्तान के विदेश मंत्री हनीफ अतमार (Foreign Minister Hanif Atmar) ने भारत (India) के विदेश मंत्री एस जयशंकर (External Affairs Minister S Jaishankar) से बात की थी।

दोनों नेताओं के बीच अफगानिस्तान में हिंसा पर एक आपातकालीन सत्र (Emergency Session) बुलाने के संबंध में बातचीत हुई थी। भारत ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UN Security Council) का अध्यक्ष बनने के तत्काल बाद मीटिंग आयोजित कर क्षेत्र में शांति के इरादों को स्पष्ट कर दिया है। बता दें कि भारत (India) ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में एक अगस्त से ही अध्यक्ष पद का कार्यभार संभाला है।

Next Story