Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मलेशिया और तुर्की से आयात पर कटौती, कश्मीर मसले के कारण उठाया सख्त कदम

कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने को लेकर पिछले दिनों मलेशिया और तुर्की ने इसका विरोध किया था। जिसके बाद भारत ने मलेशिया से पाम ऑयल का आयात रोक दिया है। अब अन्य उत्पादों पर रोक लगाने की तैयारी की जा रही है।

मलेशिया और तुर्की से आयात पर कटौती की योजना बना रहा है भारतमलेशिया और तुर्की से आयात पर कटौती की योजना बना रहा है भारत (फाइल फोटो)

कश्मीर मुद्दे पर भारत मलेशिया (Malaysia) और तुर्की (Turkey) के बयान से खुश नहीं है। भारत ने मलेशिया से पाम ऑयल का आयाद रोक दिया है। इसके बाद तुर्की से कुछ आयात में कटौती करने की योजना बना रहा है। मलेशिया से तेल, गैस और अन्य उत्पादों पर अंकुश लगाने के निर्देश भी आयातकों को दे दिए गए हैं।

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने को लेकर पिछले दिनों मलेशिया और तुर्की ने इसका विरोध किया था। भारत मलेशिया से पाम ऑयल का आयात रोक चुका है और अब वह वहां से पेट्रोल, एल्यूमीनियम इंगॉट, एलएनजी, कंप्यूटर पार्ट्स और माइक्रोप्रोसेसर मंगाना कम कर सकता है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भारत सरकार मलेशिया से पेट्रोल और गैस का आयात कम करने के साथ तुर्की से भी तेल और स्टील मंगाना कम कर सकती है।

भारत के खिलाफ स्टैंड से पीछे नहीं हटेंगे

मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद (Mahathir Mohammad) ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने को लेकर पिछले दिनों नाखुश होते हुए बयान दिया था। महातिर मोहम्मद ने कहा था कि भारत ने जम्मू-कश्मीर पर आक्रमण करके कब्जा किया है। उन्होंने इस पर पाकिस्तान का साथ दिया था। भारत की ओर से कड़े कदम उठाने के बाद भी उनका कहना है कि भारत के खिलाफ स्टैंड से वो पीछे नहीं हटेंगे। कुछ साल पहले तक भारत और मलेशिया के रिश्ते अच्छे थे। अब दोनों देशों के संबंधों में खटाई पडती नजर आ रही है। महातिर ने नए नागरिकता कानून की आलोचना करते हुए कहा है कि भारत में मुसलमानों के साथ भेदभाव होता है।

पाम ऑयल के सबसे बड़े आयातकों में है भारत

भारत पाम ऑयल के सबसे बड़े आयातकों में शामिल है। जब भारत में इस तेल के आयात पर कोई पाबंदी नहीं थी, तब मलेशिया से दो-तिहाई तेल भारत आता था। फिर सरकार की और से इसे "रिस्ट्रिक्टेड" श्रेणी में डाल दिया। अब अगर किसी व्यावसायी को मलेशिया से पाम ऑयल आयात करना है तो उसे सरकार से लाइसेंस लेना होगा।

Next Story
Top