Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Fact Check: क्या साउथ अफ्रीका से पहले नीदरलैंड की जमीन पर पहुंचा था कोरोना का नया वेरिएंट Omicron, जानें सच

साउथ अफ्रीका (South Africa) में ओमिक्रॉन के पहले मरीज के मिलने से पहले ही नीदरलैंड (Netherlands) की जमीन पर ये वायरस था।

Fact Check: क्या साउथ अफ्रीका से पहले नीदरलैंड की जमीन पर पहुंचा था कोरोना का नया वेरिएंट Omicron, जानें सच
X

दुनिया में कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रोन (Omicron) को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है। दावा किया जा रहा है कि साउथ अफ्रीका (South Africa) में ओमिक्रॉन के पहले मरीज के मिलने से पहले ही नीदरलैंड (Netherland) की जमीन पर ये वायरस मिल गया था। नीदरलैंड के एक मेडिकल इंस्टीट्यूट की तरफ से ये दावा किया गया है कि ये ओमिक्रॉन नीदरलैंड की धरती पर पहले से ही था। लेकिन अभी तक किसी ने भी पुष्टि नहीं कि है कि आखिर ये वायरस कैसे और कहां से फैला।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, साउथ अफ्रीका में पहले मामले को लेकर अधिकारियों ने कहा कि यहां कोई मरीज नहीं था उससे पहले ही ओमिक्रॉन वेरिएंट वेस्टर्न यूरोप में फैल रहा था। ऐसे में एक डर पैदा हुआ है कि अभी तक इस वायरस ने कितना नुकसान पहुंचाया है।

सीबीएस न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, नीदरलैंड के आरआईवीएम स्वास्थ्य संस्था ने 19 नवंबर को कोरोना के नमूनों के डेटा के दौरान नए म्यूटेंड स्ट्रेन की जानकारी मिली थी। उससे कुछ दिनों पहले ही साउथ अफ्रीका की मेडिकल अथॉरिटी ने B.1.1.529 वेरिएंट की बारे में सूचित कर दिया ता, जिसे अब ओमिक्रॉन के नाम से जाना जा रहा है। इसकी जानकारी विश्व स्वास्थ्य संगठन को भी दी गई थी।

आरआईवीएम ने मंगलवार को कहा कि एक विशेष पीसीआर टेस्ट के दौरान लिए गए नमूनों में स्पाइक प्रोटिन असामान्य दिखा था। जिसने चिंता बढ़ा थी कि यही ओमिक्रॉन हो सकता है। डच स्वास्थ्य अधिकारियों ने पहले ही संक्रमित व्यक्तियों को सूचित कर दिया है और कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग शुरू कर दी गई। पिछले कोविड टेस्ट रिजल्ट से अधिक नमूनों की फिर से जांच की जाएगी और ओमिक्रॉन वेरिएंट के प्रसार का अध्ययन किया जाएगा।

साफ तौर पर नीदरलैंड ने ओमिक्रॉन वेरिएंट के अपने पहले मामलों का पता तब लगाया जब दक्षिण अफ्रीका से एक उड़ान 28 नवंबर को एम्स्टर्डम हवाई अड्डे पर उतरी थी। जबकि साउथ अफ्रीका ने 24 नवंबर को ही डब्ल्यूएचओ को सूचित कर दिया था। नीदरलैंड में लिए गए नमूनों की टेस्टिंग में जानकारी मिली थी। नीदरलैंड में 19 नवंबर से 23 नवंबर के बीच लिए गए नमूनों में ओमिक्रॉन वेरिएंट की जानकारी मिल गई थी।

Next Story