Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बांग्लादेश में दुर्गा पूजा के पंडालों में तोड़फोड़- तीन लोगों की मौत, सांप्रदायिक तनाव बढ़ा

पिछले 24 घंटों में जो हुआ, उसे हम ट्वीट में प्रकाशित नहीं कर सकते। बांग्लादेश के हिंदुओं ने कुछ लोगों के असली चेहरे देखे। हम नहीं जानते कि भविष्य में क्या होगा।

बांग्लादेश में दुर्गा पूजा के पंडालों में तोड़फोड़- तीन लोगों की मौत, सांप्रदायिक तनाव बढ़ा
X

बांग्लादेश से दुर्गा पूजा पंडालों और मूर्तियों (Durga Puja pandals and idols) पर हमले की कई घटनाएं सामने आई हैं। जिसके चलते बांग्लादेश (Bangladesh) के कुछ हिस्सों में सांप्रदायिक तनाव (communal tension) बढ़ गया है। इस बात की जानकारी स्थानीय मीडिया ने दी है। रिपोर्ट के अनुसार, सोशल मीडिया पर कोमिला शहर में दिघी झील (Dighi lake) के पास एक दुर्गा पूजा पंडाल में कुरान को कथित तौर पर अपवित्र करने की खबर फैलाई गई। जिसके बाद हिंसा भड़क उठी। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि कोमिला हिंसा के बाद, चांदपुर हाजीगंज, चट्टोग्राम के बंशखली और कॉक्स बाजार के पेकुआ के मंदिरों से भी तोड़फोड़ की घटनाएं सामने आई हैं।

पूजा पंडालों में फैली हिंसा को पुलिस ने रोकने की कोशिश की। लेकिन भीड़ के द्वारा पुलिस पर पथराव किया गया। इसके बाद सुरक्षाकर्मियों ने दंगाइयों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे और रबर की गोलियां भी चलाईं। ग्राउंड रिपोर्ट्स के मुताबिक, बांग्लादेश में एक दुर्गा पूजा पंडाल पर हुए हमले में कम से कम तीन लोग मारे गए। जिन इलाकों में हिंसा हुई है वहां पर रेपिक एक्शन बटालियन के जवानों समेत अतिरिक्त बलों को तैनात किया गया है।

बांग्लादेश हिंदू एकता परिषद के अनुसार, कोमिला में नानुआ दिघी में पूजा मंडप पर "कुरान का अपमान करने की अफवाहों" के बाद हमला किया गया था। बांग्लादेश के इतिहास में एक निंदनीय दिन है। पिछले 24 घंटों में जो हुआ, उसे हम ट्वीट में प्रकाशित नहीं कर सकते। बांग्लादेश के हिंदुओं ने कुछ लोगों के असली चेहरे देखे। हम नहीं जानते कि भविष्य में क्या होगा। लेकिन बांग्लादेश के हिंदू 2021 की दुर्गा पूजा को कभी नहीं भूलेंगे।

बता दें कि इससे पहले ढाका के टीपू सुल्तान रोड और चटगांव के कोतवाली में भी इसी तरह की घटनाएं सामने आई थीं। घटना के बाद बांग्लादेश सरकार ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं। धार्मिक मामलों के राज्य मंत्री मोहम्मद फरीदुल हक खान ने लोगों से संयम बरतने और कानून को अपने हाथ में लेने से परहेज करने का आग्रह किया है।

कोमिला में कुरान की बेअदबी की खबर पर हमने संज्ञान लिया है। स्थानीय प्रशासन से मामले की जांच करने को कहा गया है। जो कोई भी धार्मिक सद्भाव को नष्ट करने के उद्देश्य से इस घटना के लिए जिम्मेदार है, उसके खिलाफ कानून के तहत मामला दर्ज कर उचित कार्रवाई की जाएगी।

वहीं इस घटना पर बांग्लादेशी लेखिका तसलीमा नसरीन ने बुधवार को अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया। तसलीमा नसरीन ने इस घटना को हिंदुओं पर हमला करने का बहाना करार देते हुए उन्होंने शेख हसीना सरकार से देश में अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्यों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का आग्रह किया है।

और पढ़ें
Next Story