Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पाकिस्तान में अफगान के राजदूत की बेटी का अपहरण, पांच घंटे टॉर्चर के बाद छोड़ा

अफगानिस्तान में तालिबानी आतंकियों की दशहतगर्दी के लिए राष्ट्रपति अशरफ गिनी ने सीधे-सीधे पाकिस्तान पर निशाना साधा है। जानिये क्या कहा ?

पाकिस्तान में अफगान के राजदूत की बेटी का अपहरण, पांच घंटे टॉर्चर के बाद छोड़ा
X

अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी की ओर से देश में विदेशी आतंकवादियों की एंट्री और तालिबानी उपद्रव के लिए पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराए जाने के बीच पड़ोसी देश में अफगानी राजदूत की बेटी का अपहरण कर लिया गया। हालांकि पांच घंटे बाद ही राजदूत की बेटी को छोड़ दिया गया, लेकिन आरोप है कि इस दौरान उसके ऊपर भारी जुल्मो सितम किए गए।

न्यूज एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तानी मीडिया के हवाले से बताया जा रहा है कि पाक में अफगानी राजदूत की बेटी को अपहरण के बाद छोड़ दिया गया है। इस संबंध में और जानकारियां सामने आना अभी बाकी है। बता दें कि अफगानिस्तान में तालिबानी आतंकियों की दशहतगर्दी के लिए राष्ट्रपति अशरफ गिनी ने सीधे-सीधे पाकिस्तान पर निशाना साधा है।

ताशकंद में हो रहे एक क्षेत्रीय सम्मेलन में अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने देश में विदेशी आतंकवादियों की एंट्री और तालिबान को शांति वार्ता में गंभीरता से शामिल होने के लिए प्रभावित करने में नाकाम रहने को लेकर पाकिस्तान की कड़ी आलोचना की। इस दौरान पाक पीएम इमरान खान, भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर, चीनी विदेश मंत्री वांग यी, रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव और कई अन्य देशों के नेताओं और प्रतिनिधियों की मौजूदगी रही।

इस दौरान अशरफ गनी ने कहा कि जून के महीने में पाकिस्तान और अन्य जगहों से 10 हजार से ज्यादा जिहादी लड़ाकों ने अफगानिस्तान में एंट्री की है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान तालिबान को शांति वार्ता में हिस्सा लेने के लिए प्रभावित नहीं कर सका है। तालिबान का समर्थन करने वाले अफगानिस्तान में तबाही का खुले तौर पर जश्न मना रहे हैं।

Next Story