Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोविड-19 का डेल्टा स्वरूप 104 देशों में फैला, जल्द हो सकता है पूरी दुनिया पर हावी: WHO

बताया जा रहा है कि कोरोना का ये वेरिएंट खासतौर पर उन लोगों को संक्रमित कर रहा है जिन्होंने कोविड वैक्सीन नहीं लगवाई है। इस कारण स्वास्थ्य ढांचे पर दबाव बढ़ रहा है। वहीं, जिन देशों में वैक्सीनेशन की दर कम है, वहां के हालात और भी खराब हैं। संगठन की ओर से यह भी चेतावनी दी गई है कि डेल्टा वेरिएंट ज्यादा संक्रामक है, इसलिए इससे बचना बेहद जरूरी है।

कोविड-19 का डेल्टा स्वरूप 104 देशों में फैला, जल्द हो सकता है पूरी दुनिया पर हावी: WHO
X

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा है कि कोरोना वायरस का नया वेरिएंट (स्वरूप) डेल्टा विश्व में तेजी से फैल रहा है। डब्ल्यूएचओ ने दुनिया के तमाम देशों को आगाह करते हुए कहा है कि 104 देशों तक पहुंचने वाला डेल्टा वेरिएंट बहुत ही जल्दी पूरी दुनिया में कोरोना के स्वरूपों में सबसे अधिक हावी होने की आशंका है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, डब्लूएचओ प्रमुख टैड्रॉस एडहेनॉम घेबरेयेसस का कहना है कि बीते हफ्ते ऐसा चौथा सप्ताह था, जब दुनिया भर के मामले बढ़ने का सिलसिला लगातार जारी रहा।डब्ल्यूएचओ के 6 क्षेत्रों में से एक को छोड़कर अन्य सभी में मामले बढ़े हैं।

डब्लूएचओ प्रमुख टैड्रॉस एडहेनॉम यह भी कहा कि 10 हफ्ते तक संक्रमण के मामलों में कमी आने के बाद इस तरह मामले बढ़ने से चिंता ज्यादा बढ़ गई है।बताया जा रहा है कि कोरोना का ये वेरिएंट खासतौर पर उन लोगों को संक्रमित कर रहा है जिन्होंने कोविड वैक्सीन नहीं लगवाई है। इस कारण स्वास्थ्य ढांचे पर दबाव बढ़ रहा है। वहीं, जिन देशों में वैक्सीनेशन की दर कम है, वहां के हालात और भी खराब हैं। संगठन की ओर से यह भी चेतावनी दी गई है कि डेल्टा वेरिएंट ज्यादा संक्रामक है, इसलिए इससे बचना बेहद जरूरी है।

वैज्ञानिक भी कह चुके हैं कि कोविड-19 के नए रूप की चपेट में आने से बचने के लिए सभी को जल्दी ही से वैक्सीन लगवाना होगा। इसका अलावा उन्होंने यह भी स्पष्ट किया है कि कोरोना वैक्सीन लगवाने वाले लोगों को संक्रमित हो सकते हैं। लेकिन उनकी सेहत को नुकसान होने की संभावना उन लोगों की तुलना में कम है जो बिना टीके के संक्रमित होंगे। अमेरिका में डेल्टा वेरिएंट से संक्रमित होने वालों की दर 70 से 80 प्रतिशत है। अमेरिका के ब्राउन यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के डीन डॉ. आशीष झा ने कहा है कि देश में कोविड-19 संक्रमण के ज्यादा मामले उन क्षेत्रों में कम देखने को मिल रहे हैं जहां वैक्सीनेशन की दर कम है।

Next Story