Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Coronavirus: मीट-मछली खाते हैं तो हो जाएं सावधान, मरे जानवरों की चमड़ी पर इतने दिनों तक जिंदा रहता है कोरोना वायरस

Coronavirus: कोरोना वायरस के मामलों में अब एक नया रिसर्च सामने आया है। इस रिसर्च में दावा किया गया है कि मरे जानवरों की चमड़ी पर 4 दिनों तक कोरोना वायरस जिंदा रहता है।

Coronavirus: मीट-मछली खाते हैं तो हो जाएं सावधान, मरे जानवरों की चमड़ी पर इतने दिनों तक जिंदा रहता है कोरोना वायरस
X
Coronavirus: मीट-मछली खाते हैं तो हो जाएं सावधान, मरे जानवरों की चमड़ी पर इतने दिनों तक जिंदा रहता है कोरोना वायरस

Coronavirus: कोरोना वायरस के मामले में अब एक नया रिसर्च सामने आया है। इस रिसर्च में दावा किया गया है कि मरे जानवरों की चमड़ी पर 4 दिनों तक कोरोना वायरस जिंदा रहता है। इतना ही नहीं, फ्रीज में रखे मीट पर भी कोरोना वायरस 15 दिनों तक जिंदा रहता है।

मीट प्लांट्स से फैल सकता है कोरोना

युनाइटेड स्टेट्स आर्मी मेडिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ इंफेक्शियस डिसीज की रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि कोरोना संक्रमण मीट प्लांट्स से भी फैल सकता है। उन्होंने कहा कि इस रिसर्च में ये बात सामने आई कि बीजिंग में फैले कोरोना वायरस के 300 से ज्यादा मामले फूड मार्केट से ही आए थे।

रिसर्च की प्रक्रिया

इस रिसर्च के दौरान सुअर की चमड़ी पर वायरस डाले गए। इसे 4 डिग्री सेल्सियस पर रखा गया। बता दें कि मार्केट में इसी तापमान पर मीट रखी जाती है। रिसर्च के बाद देखा गया कि सुअर की चमड़ी पर कोरोना वायरस 4 दिनों तक जिंदा रहा।

जब सुअर की चमड़ी को फ्रीज में रखा गया तो ये वायरस 15 दिनों तक वहीं पर मौजूद रहा। इससे यह निष्कर्ष निकाला गया कि कोरोना पीड़ितों से निकले ड्रॉप्लेट्स कई दिनों तक मीट पर और बाकी जगहों पर मौजूद रह सकते हैं।

इसके अतिरिक्त रिसर्च के दौरान ये भी देखा गया कि रूम के तापमान पर भी वायरस 4 दिनों तक जिंदा रहता है। वहीं जब इसे 37 डिग्री से अधिक तापमान पर रखा जाता है, तो ये 8 घंटे तक जीवित रहता है।

और पढ़ें
Next Story