Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Coronavirus: बिल गेट्स बोले, कोरोना की वैक्सीन बनाकर पूरी दुनिया में सप्लाई करने की क्षमता रखता है भारत

Coronavirus: माइक्रोसॉफ्ट के को-फाउंडर बिल गेट्स ने कहा कि भारत के पास इतनी क्षमता है कि वो कोरोना वायरस की वैक्सीन बना भी सकता है और पूरी दुनिया में सप्लाई भी कर सकता है।

Coronavirus: बिल गेट्स बोले, कोरोना की वैक्सीन बनाकर पूरी दुनिया में सप्लाई करने की क्षमता रखता है भारत
X
Coronavirus: बिल गेट्स बोले, कोरोना की वैक्सीन बनाकर पूरी दुनिया में सप्लाई करने की क्षमता रखता है भारत

Coronavirus: माइक्रोसॉफ्ट के को-फाउंडर बिल गेट्स ने कोरोना के मामले में भारत की तारीफ की है। उन्होंने कहा कि भारत के पास इतनी क्षमता है कि वो कोरोना वायरस की वैक्सीन बना भी सकता है और पूरी दुनिया में सप्लाई भी कर सकता है।

भारत ने दुनिया की मदद की

बिल गेट्स ने डिस्कवरी प्लस चैनल की डॉक्यूमेंट्री कोविड-19: इंडियाज वॉर अगेंस्ट द वायरस (COVID-19: India's War Against The Virus) में भारत की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि भारत के वैज्ञानिकों और दवा कंपनियों ने कोरोना के मामले में पूरी दुनिया की मदद की है। हालांकि भारत की जनसंख्या ज्यादा है। इसलिए भारत में कोरोना वायरस को खत्म करने में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। लेकिन भारत वैक्सीन बनाने के मामले में सबसे आगे है। उन्होंने कहा कि भारत सिर्फ वैक्सीन बनाती नहीं है, बल्कि पूरी दुनिया में सप्लाई भी करती है।

दवा कंपनियों की भी तारीफ की

बिल गेट्स ने कहा कि सीरम इंस्टीच्यूट भारत की सबसे बड़ी दवा कंपनी है। इसके अलावा भारत बोयोटेक और बोयो ई भी कोरोना वैक्सीन ढुंढ़ने के काम में जुटी है। उन्होंने कहा कि ये दवा कंपनियां हर तरह की बीमारी के इलाज के लिए रिसर्च करती रहती है।

उन्होंने कहा कि इन दवा कंपनियों की मदद से भारत वैक्सीन जल्दी बना सकता है। उन्होंने कहा कि भारत के पास इतनी क्षमता है कि वो पूरी दुनिया में वैक्सीन का सप्लाई भी कर सकता है।

कोलिशन फॉर एपिडेमिक प्रीपेअर्डनेस इनोवेंशस ग्रुप में शामिल हुआ है भारत

बिल गेट्स ने कहा कि हाल ही में कोरोना की वैक्सीन के रिसर्च, निर्माण और सप्लाई के लिए भारत कोलिशन फॉर एपिडेमिक प्रीपेअर्डनेस इनोवेंशस ग्रुप में शामिल हुआ है। उन्होंने कहा कि शुरूआत से ही भारत ने कोरोना के मामले में अपनी तैयारियों का उदाहरण पेश किया है। इसके साथ ही भारत अपने देश में मृत्यु दर को भी काफी कम कर सकता है।

Next Story
Top