Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

तीन दशक बाद सुलझा अयोध्या मामला, दुनिया के इन स्थलों पर चले लंबे विवाद

लगभग तीन दशक तक चले अयोध्या जमीन विवाद (Ayodhya Dispute) के मामले पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने अंतिम फैसला सुना दिया है। अयोध्या विवाद की ही तरह दुनियाभर में कई ऐसे विवाद हैं जो काफी लंबे समय तक चले। जबकि कई अभी भी चल रहे हैं।

तीन दशक बाद सुलझा अयोध्या मामला, दुनिया के इन स्थलों पर चले लंबे विवादसुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मामले पर ऐतिहासिक फैसला सुनाया, दुनिया के अनेक स्थलों पर अब भी विवाद चल रहे हैं।

लगभग तीन दशक तक चले अयोध्या-बाबरी मस्जिद विवाद (Ayodhya-Babri Mosque Dispute) पर आज सुप्रीम कोर्ट ने अहम फैसला सुना दिया है। इस फैसले पर दुनियाभर की नजरें टिकी हुई थी। कोर्ट के आदेश के मुताबिक केंद्र सरकार को तीन महीने के भीतर योजना तैयार करनी होगी। जबकि सुन्नी वक्फ बोर्ड को पांच एकड़ जमीन दी जाएगी। दुनियाभर के इतिहास को देखें तो केवल अयोध्या नहीं बल्कि कई ऐतिहासिक विवाद हुए हैं जो काफी लंबे समय तक चले और कई अभी तक चल रहे हैं। आइए जानते हैं-

बर्लिन की दीवार

9 नवंबर 1989 के दिन रोज बर्लिन की दीवार को गिरा दिया गया था। बर्लिन की दीवार पश्चिमी बर्लिन और जर्मन लोकतांत्रिक गणराज्य के बीच एक अवरोध थी। जिसने 28 साल तक बर्लिन शहर को पूर्वी और पश्चिमी टुकड़ों में बांट रखा था। इस दीवार को 13 अगस्त 1961 में बनाया गया था और 9 नवंबर 1989 के बाद के सप्ताहों में इसे तोड़ दिया गया। बर्लिन की दीवार अंदरूनी जर्मन सीमा का सबसे प्रमुख भाग थी और शीत युद्ध का प्रमुख प्रतीक थी।



यरूशलम विवाद

इसराइल यरुशलम को अपनी अविभाजित राजधानी मानता है जबकि फिलिस्तीनी पूर्वी यरूशलम (जिसपर 1967 में अरब-इसराइल युद्ध में इसराइल मे कब्जा कर लिया था।) को उनके भावी राष्ट्र की राजधानी मानते हैं। इसराइलियों और फिलिस्तीनियों के पवित्र शहर यरूशलम को लेकर विवाद बहुत पुराना और गहरा है।



कोरियाई प्रायद्वीप

डेमोक्रेटिक पीपल्स रिपब्लिक ऑफ कोरिया उत्तर कोरिया में प्रशासन करता है, लेकिन उत्तर कोरिया के संविधान के अनुच्छेद-1 में लिखा है कि डेमोक्रेटिक पीपल्स रिपब्लिक ऑफ कोरिया एक स्वतंत्र समाजवादी राज्य है जो सभी कोरियाई लोगों के हितों का प्रतिनिधित्व करता है। कोरिया गणराज्य दक्षिण कोरिया का प्रशासन चलाता है। लेकिन दक्षिण कोरिया के संविधान के अनुच्छेद 3 में लिखा है कि कोरिया गणराज्य का क्षेत्र कोरियाई प्रायद्वीप और उससे सटे द्वीपों से मिलकर बनेगा।





Next Story
Share it
Top