Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

संसद भवन में ही नेता ने लूटी युवती की आबरू, PM पर लगाया बड़ा आरोप

संसद भवन (Parliament House) की नेताओं ने पवित्रा को अपवित्र कर दिया। संसद भवन के भीतर ही एक नेता ने 26 वर्षीय महिला (Woman) को अपनी हवश का शिकार बना लिया। जिसके बाद महिला को इंसाफ (Justice) नहीं मिला है।

संसद भवन में ही नेता ने लूटी युवती की आबरू, PM पर लगाया बड़ा आरोप
X

संसद भवन रेप

संसद भवन (Parliament House) की नेताओं ने पवित्रता को अपवित्र कर दिया। संसद भवन के भीतर ही एक नेता ने 26 वर्षीय महिला (Woman) को अपनी हवस का शिकार बना लिया। इसके बावजूद पीड़िता को अब तक इंसाफ (Justice) नहीं मिला है। दरअसल, यह मामला ऑस्ट्रेलिया (Australia) का है। जहां ऑस्ट्रेलिया की 26 वर्षीय महिला ब्रिटनी हिगिन्स ने संसद भवन के अंदर रेप का आरोप लगाया है। उन्होंने बताया कि वो 2018 में एक रात पार्टी में गई थी। वहां उसने शराब पी (Dirnking Alcohol)। इसी के बाद एक सहयोगी उसे पार्लियामेंट हाउस में डिफेंस मिनिस्टर के दफ्तर लेकर आ गया। जहां उसके साथ रेप (Rape) किया गया। आपको बता दें कि उस वक्त स्कॉट मॉरिसन की गठबंधन सरकार थी। प्रधानमंत्री ने इस मामले की सही तरीके से जांच नहीं कराई। महिला ने रेपिस्ट का नाम फिलहाल नहीं बताया है।

पीड़ित महिला तब 24 साल की थी

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक ब्रिटनी हिगिन्स बताती हैं कि मैं जब 24 साल की थी। तब 'मैं अपने कुछ सहयोगियों के साथ एक पार्टी में गई थी। वहां मैने शराब पी। वहां पर मेरे एक साथी ने मुझे घर छोड़ने का ऑफर दिया। लेकिन, वो व्यक्ति मुझे मेरे घर छोड़ने के बजाए पार्लियामेंट हाउस ले गया। यहां उसने डिफेंस मिनिस्टर के चैम्बर में मेरे साथ रेप किया। मुझे जब होश आया तो मैंने उसे रोकने की कोशिश की, लेकिन नशे की हालत में होने की वजह से मैं उसे रोक नहीं पाई।

वहीं उन्होंने बताया कि मैंने अपने साथ हुई बदसलूकी की जानकारी अपने साथियों को दी। सरकार और पुलिस को भी इस बारे में विस्तार से बताया और सबूत भी दिये। डेमोक्रेटिक पार्टी ने मुझे इंसाफ दिलाने का भरोसा दिलाया, लेकिन अब तक कुछ नहीं हो सका है।

अधिक नशे की हालत में थी ब्रिटनी हिगिन्स

ब्रिटनी ने अब तक उस व्यक्ति का नाम सार्वजनिक नहीं किया है, जिसने उनके साथ रेप किया। हालांकि, ये जरूर कहा कि वो व्यक्ति लिबरल पार्टी का उभरता हुआ पॉलिटिशियन है। ब्रिटनी ने ये माना है कि उस रात वे काफी नशे में थीं। उन्होंने कहा- मैंने डिफेंस मिनिस्टर को इस बारे में जानकारी दी थी। 12 अन्य लोगों को भी इस बारे में बताया। इस घटना के कुछ वक्त बाद प्रधानमंत्री मॉरिसन ने देश में चुनावों का ऐलान कर दिया था।

अगर नौकरी बचानी है तो केस वापस लो

वहीं ब्रिटनी हिगिन्स ने बताया कि अब मॉरिसन घटना पर दुख जताते हुए मान रहे हैं कि जांच सही तरीके से नहीं हुई। हैरानी की बात यह है कि पार्टी ने हिगिन्स पर पुलिस कम्पलेंट वापस लेने का दबाव बनाया। हिगिन्स का आरोप है- मुझसे कहा गया कि अगर नौकरी बचानी है तो पुलिस केस वापस लीजिए। मैंने नाइंसाफी की शिकार हुई और मुझे ही चुप रहने को कहा गया। ब्रिटनी हिगिन्स को आज तक इंसाफ नहीं मिला है। उलटा सत्तारूढ़ पार्टी ने उन्हें की चुप रहने की सलाह दे दी।

और पढ़ें
Next Story