Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

एमनेस्टी की PM मोदी से अपील, कहा- मर रहे रोहिंग्या मुसलमान, बचा लें

हजारों रोहिंग्‍या मुसलमान बांग्‍लादेश और भारत जैसे मुल्‍कों में शरणार्थी बनकर पहुंच रहे हैं।

एमनेस्टी की PM मोदी से अपील, कहा- मर रहे रोहिंग्या मुसलमान, बचा लें
X

अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार संगठन एमनेस्टी ने म्यांमार में रोहिंग्या मुसलमानों पर हो रहे हमले को लेकर भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से रक्षा की गुहार लगाई है।

अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार संगठन एमनेस्टी भारत के कार्यकारी निर्देशक आकार पटेल ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी को म्यांमार के राष्ट्रपति पर दबाव डालकर रोहिंग्या मुसलमान की सुरक्षा का प्रबंध करें।

उन्होंने कहा कि म्यांमार के हिंसा प्रभावित इलाके रखाइन प्रांत के रोहिंग्या मुस्लिमों को सहायता पहुंचाई जाए न कि भारत सरकार को उनके प्रत्यर्पण की धमकी देनी चाहिए।

सरकार ने दिया दो टूक जवाब

रोहिंग्या मुस्लिमों के इंडिया में रहने के सवाल पर गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने साफ शब्दों में कहा कि म्यांमार से अवैध तरीके से घुस आए रोहिंग्या मुस्लिमों का भारत पनाहगाह नहीं बनेगा। रोहिंग्या मुस्लिम अवैध आप्रवासी हैं उन्हें उनके मुल्क भेजा जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी राज्य सरकारों को रोहिंग्या मुसलमानों को देश से निकालने की प्रक्रिया शुरू करने का निर्देश दिया गया है।

किन-किन राज्यों में रोहिंग्या मुस्लिम

आपको बता दें कि अवैध रूप से भारत में रह रहे रोहिंग्या मुस्लिम म्यांमार से आए हैं। भारत में ये लोग इस वक्त जम्मू-कश्मीर , हैदराबाद, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, दिल्ली-एनसीआर और राजस्थान में 40,000 हजार के करीब रहते हैं।

रोहिंग्‍या मुसलमानों पर चुप क्‍यों हैं नोबेल विजेता आंग सान सू

म्यांमार के हिंसा प्रभावित इलाके रखाइन प्रांत के रोहिंग्या मुस्लिमों पर लगातार हो रहे हमले के पर शांति के नोबेल पुरस्कार विजेता आंग सान सू चुप क्यों हैं यह बड़ा सवाल है। इसको लेकर नोबेल विजेता मलाला युसूफजई ने सू की से अपनी चुप्‍पी तोड़ने की अपील की है।

गौरतलब है कि 25 अगस्‍त को रोहिंग्‍या विद्रोहियों ने कई पुलिस पोस्‍ट और आर्मी बेस पर हमला कर दिया था। उसके बाद हिंसा भड़क गई और सेना की कार्रवाई में अब तक 400 लोग मारे गए हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story