Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

फेसबुक या व्हाट्सएप पर SC/ST के खिलाफ की गलत बात तो होगी जेल

इस तरह के किए जाने वाले अपराध को अत्याचार निषेध ऐक्ट, 1989 के अंतर्गत दंड दिया जाएगा।

फेसबुक या व्हाट्सएप पर SC/ST के खिलाफ की गलत बात तो होगी जेल
X

सोशल मीडिया पर किसी भी अनुसूचित जाति (SC) और अनुसूचित जनजाति (ST) के लोगों को लेकर अपमानजनक बात करने या फिर लिखने वाले को कानूनी कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा। सोमवार को दिल्ली हाईकोर्ट ने एक जनहित याचिक पर सुनवाई करते हुए कहा कि SC और ST समुदाय के किसी व्यक्ति के खिलाफ सोशल मीडिया या फिर किसी ग्रुप में चैट में की जाने वाली अपमानजनक बातें दंडनीय अपराध हैं।

कोर्ट के मुताबिक, इस तरह के किए जाने वाले अपराध को अत्याचार निषेध ऐक्ट, 1989 के अंतर्गत दंड दिया जाएगा। जस्टिस विपिन सांघी ने कहा, 'फेसबुक यूजर अपनी सेटिंग को 'प्राइवेट' से 'पब्लिक' करता है, इससे जाहिर होता है कि उसके 'वॉल' पर लिखी गई बातें न सिर्फ उसके फ्रेंड लिस्ट में शामिल लोग, बल्कि फेसबुक यूजर्स भी देख सकते हैं। हालांकि, किसी अपमानजनक टिप्पणी को पोस्ट करने के बाद अगर प्राइवेसी सेटिंग को 'प्राइवेट' कर दिया जाता है, तो भी उसे एससी/एसटी ऐक्ट की धारा 3(1)(एक्स) के तहत दंडनीय माना जाएगा।'

कोर्ट में यह सुनवाई एक SC महिला की याचिका पर हो रहा थी, जिसने अपनी देवरानी जो कि एक राजपूत समुदाय से है, पर आरोप लगाया था कि वह उसे सोशल नेटवर्क साइट/फेसबुक पर प्रताड़ित कर रही है और उसने धोबी के लिए गलत शब्दों का इस्तेमाल किया।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story