Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

म्यूचुअल फंड के बदले भी मिलता है लोन

आरबीआई की गाइडलाइंस के अनुसार, आपको इस प्रकार का लोन लेने के लिए बैंक या फाइनेंस कंपनी के पास अपनी म्यूचुअल फंड यूनिट्स को गिरवी रखना पड़ेगा।

म्यूचुअल फंड के बदले भी मिलता है लोन

नई दिल्ली. अगर आप म्यूचुअल फंड में निवेश कर रहे हैं तो क्या आपको पता है कि इसके बदले आपको लोन भी मिल सकता है। एफडी, बॉन्ड और इंश्योरेंस के बदले तो आसानी से लोन मिलता ही है, लेकिन कई बैंक और एनबीएफसी कंपनियां हैं, जो म्यूचुअल फंड में निवेश किए गए पैसों पर लोन देते हैं, जिस पर काफी कम ब्याज लगता है। ऐसे में आप लोन लेकर घर का रेनोवेशन, नए घर की बुकिंग या फिर ऑटो लोन लेने के लिए डाउन पेमेंट कर पाएंगे। अब आइए जानते हैं कि म्यूचुअल फंड पर लोन लेने के लिए आपको क्या करना पड़ेगा और प्रमुख बैंक और एनबीएफसी कंपनियां कितना इंटरेस्ट चार्ज करेगी।

ये भी पढ़ें: अंडों की भी होती है 'बेस्ट बिफोर' और 'बेस्ट बाय' डेट

ऐसे मिलेगा कर्ज
रिर्जव बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) की गाइडलाइंस के अनुसार, आपको इस प्रकार का लोन लेने के लिए बैंक या फाइनेंस कंपनी के पास अपनी म्यूचुअल फंड यूनिट्स को गिरवी रखना पड़ेगा। यूनिट्स के एनएवी के आधार पर आपको लोन मिलेगा। इसके लिए बैंक या कंपनी आपके द्वारा लिए गए यूनिट्स पर लिन मार्क कर देगी। बैंक या कंपनी आपको एक साल तक के लिए लोन देगा, जो आपको इसी पीरियड में चुकाना होगा।
कितना लगता है इंटरेस्ट
अगर आप पर्सनल लोन की बजाए इक्विटी म्यूचुअल फंड पर लोन लेते हैं तो वे आपसे पर्सनल लोन से बहुत कम इंटरेस्ट चार्ज करते हैं। सेबी और आरबीआई की गाइडलाइंस के अनुसार बैंक आपसे 10-18 फीसदी के बीच इंटरेस्ट चार्ज कर सकते हैं। बैंक और एनबीएफसी कंपनियां लोन अमाउंट, फंड में मौजूद यूनिट्स की एनएवी और आपके द्वारा पहले लिए गए किसी लोन की रिपेमेंट हिस्टरी को देखकर इंटरेस्ट लेती हैं। उदाहरण के तौर पर प्राइवेट सेक्टर के प्रमुख बैंकों में से एक-एक्सिस बैंक इक्विटी म्यूचुअल फंड पर 10.50 से लेकर 12.5 फीसदी तक इंटरेस्ट चार्ज करता है।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, समझिए डायनैमिक व नॉर्मल लिन के बारे में-

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे फेसबुक पेज फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Top