Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जल-थल की लड़ाई का योद्धा नौसेना में शामिल, यह LCU MK-4 परियोजना का तीसरा जहाज है

पोर्टब्लेयर में आयोजित किए गए एक समारोह में जहाज को अंडमान-निकोबार कमांड के प्रमुख वाइस एडमिरल बिमल वर्मा द्वारा कमीशन किया गया।

जल-थल की लड़ाई का योद्धा नौसेना में शामिल, यह LCU MK-4 परियोजना का तीसरा जहाज है
X

नौसेना में बुधवार को जलथल की लड़ाई का योद्धा माना जाने वाला जहाज आईएनएलसीयू एल-53 शामिल हो गया है। यह बल की लैंडिंग क्राफ्ट यूटीलिटी (एलसीयू) एमके-4 परियोजना का तीसरा जहाज है।

पोर्टब्लेयर में आयोजित किए गए एक समारोह में जहाज को अंडमान-निकोबार कमांड के प्रमुख वाइस एडमिरल बिमल वर्मा द्वारा कमीशन किया गया।

इसे भी पढ़ें- चुनाव आयोग ने मांगी आचार संहिता के नियम बनाने की शक्ति, सरकार ने SC में किया विरोध

नौसेना द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक जहाज का डिजाइन और निर्माण कोलकात्ता के गार्डन रीच शिपबिल्डर्स एंड इंजीनियर्स (जीआरएसई) ने किया है।

यह जलथल दोनों तरह की लड़ाई लड़ने में सक्षम है। इसका वजन 830 टन है और यह जरुरत पड़ने पर सैन्य टुकड़ियों के अलावा मुख्य युद्धक टैंक टी-72, बख्तरबंद गाड़ियों को समुद्री मार्ग से तुरंत एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने की महारत रखता है।

इसे भी पढ़ें- मोबाइल-आधार लिंकिंग मामले में सुप्रीम कोर्ट ने केन्द्र सरकार से पूछा सवाल

जहाज को लेफ्टिनेंट कमांडर विकास आनंद कमांड कर रहे हैं। इसके अलावा उनके साथ 5 अधिकारी और 45 नाविक भी शामिल हैं। इस दल के अलावा जहाज में 160 जवानों के दल को भी शामिल किया जा सकता है।

गौरतलब है कि एलसीयू एमके-4 श्रेणी का तीसरा जहाज है। इस परियोजना से जुड़े हुए पांच और जहाजों का निर्माण कार्य एडवांस स्तर पर है।

अनुमान के हिसाब से आने वाले साल-डेढ़ साल में यह सभी जहाज नौसेना में शामिल हो जाएंगे। इसके साथ ही देश की समुद्री सुरक्षा की आवश्यकता और शिपबिल्डिंग के मामले में आत्मनिर्भरता हासिल करने में काफी मदद मिलेगी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story