Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

इंफोसिस का लाभ 28 फीसदी बढ़ा, डिजिटल परिवर्तन ग्राहक के कारोबार को दे रहा है नया रूप

चालू वित्त वर्ष की अप्रैल से जून की तिमाही में इन्फोसिस को 2,886 करोड़ रुपए का मुनाफा।

इंफोसिस का लाभ 28 फीसदी बढ़ा, डिजिटल परिवर्तन ग्राहक के कारोबार को दे रहा है नया रूप
X
बैंगलुरू. सूचना तकनीक क्षेत्र की प्रमुख कंपनी इंफोसिस को सितंबर 2014 में समाप्त दूसरी तिमाही के दौरान 3,096 करोड़ रुपए का एकीकृत शुद्ध लाभ हुआ है, जो पिछले साल की इसी तिमाही से 28.6 प्रतिशत अधिक है। बेंगलुरु स्थित कंपनी ने बंबई शेयर बाजार को भेजी सूचना में यह जानकारी दी।
इससे पिछले साल की इसी तिमाही में कंपनी को 2,407 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ हुआ था। समीक्षाधीन तिमाही में कंपनी की एकीकृत कुल आय भी 2.9 प्रतिशत बढ़कर 13,342 करोड़ रुपए पर पहुंच गई, जो पिछले साल की इसी तिमाही में 12,965 करोड़ रुपए थी।
चालू वित्त वर्ष की अप्रैल से जून की तिमाही में इन्फोसिस को 2,886 करोड़ रुपए का मुनाफा और 12,770 करोड़ रुपए की आय हुई थी। अच्छे आंकड़ों से उत्साहित कंपनी ने 30 रुपए प्रति शेयर का अंतरिम लाभांश देने की घोषणा की जबकि पिछले साल 20 रुपए का लाभांश दिया गया था। कंपनी ने प्रति शेयर पर एक बोनस शेयर और प्रति अमेरिकन डिपाजिटरी शेयर (एडीएस) पर एक एडीएस का बोनस शेयर लाभांश जारी करेगा। उम्मीद से बेहतर नतीजे के मद्देनजर कंपनी का शेयर बंबई शेयर बाजार में शुरुआती कारोबार में 5.61 प्रतिशत चढ़कर 3,850.05 रुपए प्रति शेयर पर कारोबार कर रहा था।
देश की दूसरी सबसे बड़ी साफ्टवेयर सेवा कंपनी ने वित्त वर्ष 2014-15 के लिए आय में 7-9 प्रतिशत की वृद्धि का अनुमान बरकरार रखा है। डालर के लिहाज से न्यूयार्क में सूचीबद्ध कंपनी का शुद्ध मुनाफा चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में 33.4 प्रतिशत बढ़कर 51.1 करोड़ डालर हो गया जो पिछले साल की इसी अवधि में 38.3 करोड़ डालर था। डालर के लिहाज से कंपनी की आय 2014-15 की जुलाई से सितंबर की तिमाही में 6.5 प्रतिशत बढ़कर 2.2 अरब डालर हो गई जो पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में 2.07 अरब डालर थी।
इन्फोसिस के मुख्य कार्यकारी एवं प्रबंध निदेशक विशाल सिक्का ने कहा डिजिटल परिवर्तन हमारे हर ग्राहक के कारोबार का नया आकार प्रदान कर रहा है। हम इसे उनके मूलभूत कारोबार का नया स्वरूप देने एवं नए आयाम के विस्तार में मदद करने के मौके के तौर पर देख रहे हैं और इसके शुरुआती सकारात्मक नतीजे भी देख रहे हैं। उन्होंने कहा कि कंपनी की रणिनीति है कि इसी सिद्धांत को अपने कारोबार पर भी लागू किया जाए ताकि इस मौके का फायदा उठाया जा सके और वृद्धि में तेजी लाई जा सके।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, इंफोसिस की लंबी छलांग और नरायणमूर्ति ने पह ठुतराया-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story