Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

इंडोनेशिया के साथ कृषि क्षेत्र में असीम संभावानाएं

भारत और इंडोनेशिया जी-20 जैसे अंतर्राष्ट्रीच मंचों पर भी साझा जिम्मेदारी निभा रहे हैं।

इंडोनेशिया के साथ कृषि क्षेत्र में असीम संभावानाएं
नई दिल्ली. केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री राधा मोहन सिंह ने कहा है कि भारत और इंडोनेशिया कृषि में मिलकर काम कर रहे हैं और दोनों देशों का मानना है कि इस क्षेत्र में साथ काम करने की असीम संभावनाएं हैं।

भारत और इंडोनेशिया की अर्थव्यवस्था मोटे तौर पर कृषि आधारित है, इसलिए कृषिगत शिक्षा और अनुसंधान के क्षेत्र में की गई प्रगति को देखते हुए हुए दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों का व्यापक क्षेत्र मौजूद है। राधा मोहन सिंह ने यह बात सोमवार को कृषि भवन, नई दिल्ली में आयोजित इंडोनेशिया की ग्रेट मूवमेंट पार्टी के शिष्टमंडल के साथ हुई बैठक में कही। इंडोनेशिया के 15 सदस्यों वाले शिष्टमंडल की अगुवाई वहां के सांसद एच. अहमद मुजानी कर रहे थे।

दोनों पक्षों ने भारत और इंडोनेशिया के बीच आर्थिक और राजनैतिक संबंधों को नये आयाम पर पहुंचाने पर जोर दिया। भारत और इंडोनेशिया ने 2008 में कृषि के क्षेत्र में सहयोग के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए थे और भारत और इंडोनेशिया के संयुक्त कार्य समूह की तीसरी बैठक का आयोजन 18-19 नवंबर, 2015 को हुआ था।

भारत और इंडोनेशिया जी-20 जैसे अंतर्राष्ट्रीच मंचों पर भी साझा जिम्मेदारी निभा रहे हैं। भारत तथा आसियान ने 13 अगस्त, 2009 को विस्तृत आर्थिक सहयोग करार (सीईसीए) की व्यापक फ्रेम वर्क के तहत उत्पाद व्यापार करार पर हस्ताक्षर किए हैं। करार एक जनवरी, 2010 से सभी आसियान सदस्य देशों तथा भारत के बीच पूर्ण रूप से लागू हो गया है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top