Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भारत और चीन के बीच हुई उच्च स्तरीय बातचीत, नाथूला और मानसरोवर यात्रा को मिली मंजूरी

डोकाला विवाद और मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करने के बाद से ही भारत और चीन के रिश्तों में गरमाहट आ गई थी, मगर विदेश मंत्री सुषमा स्वाराज ने की बातचीत के बाद से ही चीनी रवाइया काफी नरम दिखाई देने लगा है।

भारत और चीन के बीच हुई उच्च स्तरीय बातचीत, नाथूला और मानसरोवर यात्रा को मिली मंजूरी
X

डोकाला विवाद और मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करने के बाद से ही भारत और चीन के रिश्तों में गरमाहट आ गई थी, मगर विदेश मंत्री सुषमा स्वाराज ने की बातचीत के बाद से ही चीनी रवाइया काफी नरम दिखाई देने लगा है।

रविवार को चीन में शंघाई सहयोग संगठन शिखर सम्मेलन में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने वांग यी से चर्चा की और तुरंत 27 अप्रैल को प्रधानमंत्री मोदी की चीन यात्रा की घोषणा कर दी है।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज चीन के चार दिवसीय दौरे पर है और चीनी समकक्ष वांग यी से भी मुलाकात की है। भारत और चीन के बीच कई अहम मुद्दों पर जैसे सहयोग, आतंकवाद और जलवायु परिवर्तन पर बातचीत की है। भारत और चीन इन मुद्दों को साथ मिलकर निपटाने की कोशिश करेंगे।

ये भी पढ़े: बैंकों और एटीएम में कैश की कमी के बारे में RBI गवर्नर ने किया बड़ा खुलासा

प्रेस कांफ्रेंस में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा है कि हमारा मानना है कि हमारे बीच मदभेदों पर स्वीकार्य समाधान के लिए हमें एक दूसरे से मिलती जुलती चीजों पर आगे बढ़ना चाहिए। वांग यी ने भी इसपर सहमति जताई और पुष्टि की कि चीन इस वर्ष सतलुज और ब्रह्मपुत्र नदी से जुड़े आंकड़ों को भारत के साथ साझा करेगा।

इस प्रेस कांफ्रेंस में चीन के काउंसलर वांग ने बताया है कि प्रधानमंत्री मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग वुहान शहर में 27-28 अप्रैल को अनौपचारिक शिखर पर चर्चा करेंगे।

इस महिने कई मुद्दों पर हुई बातचीत

12 अप्रैल राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने चीन के शीर्ष राजनयिक यांग जेइची से मिले और 22 अप्रैल को विदेशमंत्री सुषम स्वराज ने अपने चीनी समकक्ष वांग यी से मुलाकात की है।

वहीं 23-25 तक रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण का भी चीन दौरा प्रस्तावित कई मुद्दों पर बातचीत होगी और 27-28 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की शीर्षस्थ स्तर पर चर्चा होगी।

ये भी पढ़े: दलितों के बीच पैठ बढ़ाने की कोशिश में कांग्रेस, राहुल आज शुरू करेंगे 'संविधान बचाओ' अभियान

बता दें कि भारत और चीन के बीच कई अहम समझोते होने है, जिसको को लेकर इन देशों के रिश्तों पर असर देखने को मिल सकता है। पहला सतलुज और ब्रह्मपुत्र नदी के जल के आकड़ों को साथ मिलकर साझा करेंगे। वहीं दूसरी तरफ कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए नाथूला के रास्ते पर भी सहमति दी है।

भारत की सीमा में चीन बार बार अपनी सेना की घुशपैठ करवाए जा रहा है। आतंकी मसूद अजहर पर रोक और चीन भारत की एनएसजी की सदस्यता में काफी मुश्किले खड़ी कर रहा है।

सीमा विवाद को लेकर सर्वमान्य और समयबद्ध पर सहमति बन सकती है और भारत चीन व्यपार असंतुलन दूर करने पर भी समझौता संभव है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story