Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ऑस्ट्रेलिया में भारतीयों की नौकरी पर मंडराया खतरा, जानिए पूरा मामला

ऑस्ट्रेलिया की सरकार ने कुशल विदेशी वर्करों को जारी किए जानेवाले उपवर्गीय 457 वीजा खत्म कर दिए हैं।

ऑस्ट्रेलिया में भारतीयों की नौकरी पर मंडराया खतरा, जानिए पूरा मामला
X

भारतीय प्रोफेशनल्स के लिए अमेरिका के बाद अब ऑस्ट्रेलिया से भी बुरी खबर आ रही है। ऑस्ट्रेलिया की सरकार ने कुशल विदेशी वर्करों को जारी किए जानेवाले उपवर्गीय 457 वीजा खत्म कर दिए हैं।

हालांकि, इसी महीने से उसने एक नए टेंपररी स्किल शॉर्टेज (टीएसएस) वीजा का आगाज कर दिया। सबक्लास 457 वीजा कैटिगरी भारतीय प्रोफेशनलों में काफी लोकप्रिय था।

यही वजह है कि इस वीजा वाले 90,000 लोगों में बड़ा हिस्सा (22 प्रतिशत) भारतीयों का है। यूं तो टीएसएस के जरिए ऑस्ट्रेलिया में विदेशी वर्करों की नियुक्ति होती रहेगी, लेकिन वहां स्थाई तौर पर निवास की चाह रखनेवाले भारतीयों के लिए बुरी खबर है कि नए नियम में कई तरह की पाबंदी हैं।

साथ ही, पहली जॉब की तलाश करनेवालों को मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा क्योंकि अब न्यूनतम 2 वर्षों का अनुभव अनिवार्य कर दिया गया है। ऑस्ट्रेलिया की यूनिवर्सिटीज में पढ़ाई करनेवाले भारतीय छात्र भी इसके शिकार होंगे।

यह भी पढ़ेंः आईफोन बना व्यक्ति की मौत की वजह, पुलिस ने दागी 20 गोलियां

विदेशी वर्करों को नौकरी पर रखना होगा महंगा

नए वर्क वीजा की वजह से विदेशी वर्करों को नौकरी पर रखना ज्यादा महंगा हो जाएगा क्योंकि इसमें नौकरी देनेवाली कंपनियों के लिए स्किलिंग फंड में अतिरिक्त योगदान करने का प्रस्ताव किया गया है।

साथ ही, स्थानीय लोगों को नौकरियों में पहली प्राथमिकता देने के मकसद से लेबर टेस्टिंग के नियम भी कड़े किए जाएंगे। हालांकि, अभी नियमों को आखिरी स्वरूप प्रदान नहीं किया गया है।

ऑस्ट्रेलिया की सरकार उन व्यवसायों की सूची तैयार करती है जिसमें कुशल कार्यबल की कमी होती है और जिसके लिए विदेशी वर्करों की हायरिंग की अनुमति दी जा सकती है। कुछ महीने पहले माइग्रेशन रिफॉर्म प्रोसेस शुरू हुआ और जनवरी में नया स्किल्ड माइग्रेशन वीजा लिस्ट जारी की गई। अगले कुछ महीनों में एक और लिस्ट आनेवाली है।

यह भी पढ़ेंः दोस्त ने अंग्रेजी में की बात तो काट दिया गला, फिर 54 बार चाकू से गोदा

टॉप तीन व्यवसायों के लिए 457 वीजा होगा आवंटित

30 सितंबर 2017 को खत्म हुए ऑस्ट्रेलियाई वित्त वर्ष में रसोइये, रेजिडेंट मेडिकल ऑफिसर और रेस्ट्रॉन्ट मैनेजर के टॉप तीन व्यवसायों के लिए 457 वीजा आवंटित किए जाएंगे। 457 वीजा अधिकतम चार वर्षों तक के लिए वैध होता है।

ऑस्ट्रेलिया के गृह मंत्रालय के मुताबिक, टीएसएस वीजा के दो मुख्य धाराएं हैं। शॉर्ट टर्म स्ट्रीम में शॉर्ट टर्म स्किल्ड ऑक्युपेशन लिस्ट (एसटीएसओएल) के व्यवसायों के लिए अस्थाई कुशल श्रमिकों को वीजा दिया जाता है। इस वीजा की अधिकतम अवधि दो वर्ष है।

इसे अंतरराष्ट्रीय व्यापार बाध्यता के मद्देनजर चार वर्ष तक बढ़ाया जा सकता है। वहीं, दूसरी स्ट्रीम के तहत मीडियम ऐंड लॉन्ग-टर्म स्ट्रैटिजिक स्किल्स लिस्ट (एमटीएसएसएल) में शामिल व्यवसायों को लिए विदेशी वर्करों को हायर किया जा सकता है। इसकी अधिकतम अवधि चार वर्ष है।

स्थायी निवास के विकल्प सीमित

वीजा सलूशंज ऑस्ट्रेलिया के एमडी डैन एंगल्स ने कहा, शॉर्ट टर्म टीएसएस वीजाधारक स्थाई निवास के लिए आवेदन के योग्य नहीं होंगे। मध्यम एवं लंबी अवधि के टीएसएस वीजाधारक स्थाई निवास का आवेदन तब दे सकते हैं जब उन्हें कम-से-कम 3 वर्ष के लिए वीजा मिला हो।

उन्होंने कहा, अगर आप यानी आपका व्यवसाय सही सूची में शामिल नहीं है तो आपको स्थाई निवास के विकल्प काफी सीमित हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story