Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गणतंत्र विशेष: महिलाओं के बलिदान की एक झलक

भारतीय गणतंत्र ने दिए

महिलाओं को अपने मुकाम

कोई गणतंत्र तभी ठीक चल सकता है, जब उसके देश के नागरिक स्वस्थ हों, उनका खान-पान ठीक हो, उन्हें ठीक से शिक्षा मिले। जिससे कि वे अपने-अपने क्षेत्र में कामयाब हो सकें। कोई डॉक्टर बने, कोई इंजीनियर, कोई मैनेजर, कोई वैज्ञानिक, कोई शिक्षक-शिक्षिका, कोई किसान, कोई व्यापारी, कोई अभिनेता-अभिनेत्री। ये जितने भी क्षेत्र हैं, पिछले कुछ वर्षों से हम देख रहे हैं कि महिलाएं इनमें तेजी से आगे बढ़ी हैं। जब किसी भी परीक्षा के परिणाम आते हैं तो हम पाते हैं कि लड़कियां-महिलाएं अकसर अव्वल रहती हैं। यही तो हमारे गणतंत्र की सफलता का प्रमाण है। यही तो किसी देश और गणतंत्र को बनाने की असली प्रक्रिया है, जहां देश महिलाओं को आगे बढ़ाए और महिलाओं का हर काम उनके देश को विश्व के नक्शे पर आगे बढ़ाने में प्रमुख भूमिका निभाए। महिलाओं को अपने-अपने मुकाम हासिल करने की ताकत हमारे गणतंत्र और लोकतंत्र ने दी है, बदले में महिलाओं ने देश को आगे बढ़ाने के लिए परिश्रम करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है।

Next Story