Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

रेलवे का फरमान! अब काले कोट में नहीं, इस ड्रेस में दिखेंगे TTE

ढाई दशक से भी अधिक समय से ट्रेनों में टीटीई की पहचान रहा काला कोट और सफेद शर्ट बहुत जल्द बदलने जा रहा है।

रेलवे का फरमान! अब काले कोट में नहीं, इस ड्रेस में दिखेंगे TTE

ढाई दशक से भी अधिक समय से ट्रेनों में टीटीई की पहचान रहा काला कोट और सफेद शर्ट बहुत जल्द बदलने जा रहा है। भारी भरकम काले कोट के स्थान पर टीटीई अब आकर्षक और बगैर बांह वाला जैकेट पहनेंगे।

गार्ड, लोको पायलट और केटरिंग स्टॉफ जैसे यात्रियों से सीधे संवाद करने वाले रेलकर्मी भी नए और स्मार्ट लुक में नजर आएंगे। उन्हें कमीज और ट्राउजर के स्थान पर कॉर्पोरेट कंपनियों की तरह आकर्षक टीशर्ट पहनाने की तैयारी है। रेलवे द्वारा एक साल से फेमस डिजाइनर ऋतु बेरी से नया ड्रेसकोड डिजाइन कराने की तैयारी की जा रही थी। इस काम काे पूरा कर लिया गया है।

इसे भी पढ़ें: CM योगी के शहर गोरखपुर से होकर जाएगी राजधानी एक्सप्रेस

वर्तमान में जोनों से ड्रेसकोड के संबंध में जानकारी मंगाई जा रही है। सभी जोनों से टीटीई, गार्ड, लोको पायलट, केटरिंग स्टॉफ और गार्ड जैसे अहम पदों पर काम कर रहे कर्मियों का डाटा तैयार कराया जा रहा है। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे में भी इस संबंध में काफी दिनों से तैयारी की जा रही है।

अफसरों का कहना है, तीन से चार माह के भीतर रेलकर्मियों को नए कपड़ों का वितरण शुरु कर दिया जाएगा। सालभर के भीतर आधा रेल महकमा नए ड्रेसकोड में नजर आएगा। सभी कपड़ों की खासियत यह होगी कि उसमें इंडियन रेलवे का मोनो बना होगा और उसके साथ संबंधित व्यक्ति के नाम की पट्टिका भी दी जाएगी।

ऐसा होगा टीटीई का जैकेट

टीटीई के लिए हरे और पीले रंग के चमकदार जैकेट्स तैयार कराए जा रहे हैं। जबकि गार्ड लोको पायलट और केटरिंग स्टॉफ के लिए पीले, हरे, सफेद और लाल रंग की टीशर्ट दी जाएगी। इससे यात्री दूर से ही स्टॉफ को देखकर पहचान लेगा और आवश्यक मदद मिल सकेगी। वर्तमान में ड्रेसकोड की वजह से स्टॉफ को पहचानना मुश्किल होता है, जिसका फायदा कुछ गलत लोग भी उठा लेते हैं।

इसे भी पढ़ें: रेलवे की बिरयानी में लेगपीस की जगह निकली छिपकली

कब बदला, पता नहीं

रेलकर्मियों का ड्रेसकोड काफी पहले से चला आ रहा है। रायपुर स्टेशन में सालों से अपनी सेवाएं दे रहे कर्मियों को भी याद नहीं कि आखिरी बार उनका ड्रेसकोड कब बदला था। यही वजह है, रेलवे द्वारा नए सिरे से ड्रेसकोड निर्धारण का काम किया जा रहा है। वर्तमान में टीटीई के लिए काला कोट, स्टेशन मास्टर के लिए सफेद शर्ट पेंट, गार्ड के लिए काला कोट, सीएसएम के लिए टाई पहनकर काम करना अनिवार्य है।

होगा पालन

ड्रेसकोड के संबंध में जोन को रेलवे बोर्ड से दिशानिर्दश प्राप्त नहीं हुआ है। इस संबंध में निर्देश प्राप्त होते ही परिपालन सुनिश्चित किया जाएगा। (संतोष कुमार, सीनियर पीआरओ, दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे)

Next Story
Share it
Top