Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अब भारतीय पासपोर्ट ऐसे बनेगा स्‍मार्ट

नए डिजाइन और रंग की बुकलेट के साथ सिक्‍योरिटी फीचर्स और अधिक बेहतर तथा उन्‍नत होंगे भारतीय पासपोर्ट।

अब भारतीय पासपोर्ट ऐसे बनेगा स्‍मार्ट
X
पुणे. विदेश यात्रा के लिए किसी भी नागरिक के पास पासपोर्ट होना चाहिए। यह कही भी किसी देश में यात्रा करने के लिए सबसे जरूरी दस्‍तावेज होता है। अब सरकार ने यह फैसला लिया है कि पासपोर्ट भी स्मार्ट होंगे। विदेश मंत्रालय का पासपोर्ट डिवीजन नए डिजाइन और रंग की बुकलेट बना रहा है, जिसमें सिक्‍योरिटी के फीचर्स और अधिक बेहतर तथा उन्‍नत होंगे। अगले साल के मध्‍य तक ये स्‍मार्ट पासपोर्ट जारी किए जाने लगेंगे।
फिलहाल एक कमेटी इंटरनेशनल सिवि‍ल एविएशन ऑर्गनाइजेशन (आईसीएओ) की सिफारिशों के आधार पर नई बुकलेट के लेआउट, डिजाइन तथा फीचर्स के अपग्रेडेशन पर काम कर रही है। नए स्‍मार्ट पासपोर्ट में आकार तथा अपीयरेंस भी मौजूदा से बिलकुल अलग होगा।
गौरतलब है कि मौजूदा पासपोर्ट के गुमने के बाद सबसे बड़ी समस्‍या इसके पेज फटने की रहती है। इसी के साथ ई-पासपोर्ट बनाने की प्रक्रिया भी जारी है। इसमें पासपोर्ट में एक इलेक्‍ट्रॉनिक चिप लगाई जाएगी, जिसमें पासपोर्ट धारक की सारी जानकारी इलेक्‍ट्रॉनिक फॉरमेट में सुरक्षित रहेगी।
हालांकि पासपोर्ट के एक महत्‍वपूर्ण पेज जिस पर नागरिक के माता-पिता के अलावा पति या पत्‍नी का नाम सहित कई अन्‍य जानकारियां होती हैं, के बारे में फैसला नहीं लिया गया है। कमेटी यह तय नहीं कर सकी है कि इस पेज को यथावत बनाए रखना है या फिर हटाना है।
पासपोर्ट के लिए आइसीएओ की गाइड लाइंस:
- नागरिक का फोटो
- नागरिक की जानकारी
- नागरिक की जानकारियां एनक्रिप्‍टेड फॉरमेट में
- बुकलेट को मजबूत बनाया जाए
- नकली पासपोर्ट पर लगाम के लिए खास फीचर्स
ई-पासपोर्ट
81 देशों में बनने लगे हैं ई-पासपोर्ट। गौरतलब है कि दुनिया के 81 देशों में एनक्रिप्‍टेड डेटा तथा इलेक्‍ट्रॉनिक चिपयुक्‍त पासपोर्ट जारी करना शुरू कर दिया है। वहीं कई देशों में पासपोर्ट धारक की निजी जानकारियां देना बंद कर दिया है।
लगभग 15 करोड़ ई-पासपोर्ट इस समय पूरी दुनिया में जारी किए जा चुके हैं। कई छोटे देशों में अभी भी ई-पासपोर्ट का काम शुरू नहीं हो सका है। भारत ने 24 नवंबर 2015 के बाद से ऐसे पासपोर्ट जारी करना बंद कर दिया है, जिसे मशीन से पढ़ा न जा सके।
क्‍या है ई-पासपोर्ट
पासपोर्ट बुकलेट के कवर के भीतर एक इलेक्‍ट्रॉनिक चिप को एंबेड किया जाता है। इसमें पासपोर्ट धारक की सारी जानकारियां एनक्रिप्‍टेड फॉरमेट में सुरक्षित रहती हैं। यानी धारक का फोटो, बायोलॉजिकल डेटा, डिजिटल सिग्‍नेचर इत्‍यादि डिजिटील फॉरमेट में रहता है।
इस चिप को पासपोर्ट जारी करने वाली अथॉरिटी सील करेगी जिसे किसी भी सूरत में खोला नहीं जा सकेगा। यानी यह पूरी तरह से टेंपर प्रूफ रहेगा।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story