Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

स्वदेशी युद्धक विमान तेजस को नेवी ने किया रिजेक्ट

भारतीय नौसेना ने स्वदेशी युद्धक विमान तेजस के नेवी वर्जन को रिजेक्ट कर दिया है।

स्वदेशी युद्धक विमान तेजस को नेवी ने किया रिजेक्ट
X
नई दिल्ली. भारतीय नौसेना ने स्वदेशी युद्धक विमान तेजस के नेवी वर्जन को रिजेक्ट कर दिया है। नौसेना का कहना है कि 'ओवरवेट' होने के चलते इस फाइटर एयरक्राफ्ट को एयरक्राफ्ट कैरियर्स से ऑपरेट करने में कठिनाई हो रही है। नौसेना ने अगले 5-6 सालों में इसका विकल्प तलाश लेने की कवायद भी शुरू कर दी है।
तेजस नेवी की जरूरतों को पूरा नहीं कर पा रहा
हालांकि नौसेना प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा ने कहा कि डीआरडीओ, हिंदुस्तान ऐरोनॉटिक्स (एचएएल) और ऐरोनॉटिकल डिवेलपमेंट एजेंसी को सपॉर्ट करते रहेंगे। उन्होंने शुक्रवार को कहा कि तेजस नेवी की जरूरतों को पूरा नहीं कर पा रहा है।
सिंगल इंजन वाला तेजस काफी भारी
एनबीटी की खबर के मुताबिक, नौसेना प्रमुख ने स्वदेशी हल्के लड़ाकू विमान तेजस को अपने विमानवाहक पोतों पर तैनात करने की संभावना को खारिज कर दिया है। नौसेना के मुताबिक सिंगल इंजन वाला तेजस काफी भारी है। ऐसे में यह एयरक्राफ्ट करियर डेक से फुल टैंक ईंधन और आयुधों के साथ उड़ान भरने की जरूरतों को पूरा नहीं कर पाएगा।
45 मिग-29 के युद्धक विमान नौसेना में शामिल
फिलहाल नौसेना ने रूस से खरीदे गए 45 मिग-29 के युद्धक विमानों में से 30 को अपने बेड़े में शामिल किया है। मिग-29 के और तेजस के आईएनएस विक्रमादित्य और 2019-20 तक तैयार होने वाले आईएनएस विक्रांत से परिचालित किए जाने की बात की गई थी।
नौसेना एक वैकल्पिक विमान को लेकर विचार कर रही
नौसेना प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा ने कहा कि नौसेना एक वैकल्पिक विमान को लेकर विचार कर रही है। उन्होंने कहा, 'जहां तक विमानवाहक पोत आधारित विमान की बात है तो हमें विमानवाहक पोत को शामिल करने के समय चाहिए। हमारे पास मिग 29के है जो विक्रमादित्य से परिचालित होता है और आईएसी विक्रांत से परिचालित होगा।'
हल्के लड़ाकू विमान के परिचालित होने की उम्मीद
लांबा ने कहा, 'हम अपने दो विमानवाहक पोतों से हल्के लड़ाकू विमान (तेजस) के परिचालित होने की उम्मीद करते हैं।' उन्होंने कहा कि फिलहाल नौसेना ऐसे विमान की पहचान करने की प्रक्रिया में है जो जरूरतों के हिसाब से खरा उतरता हो।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story