Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भारतीय उच्चायुक्त ने पाकिस्तान के एनएसए से मुलाकात की, सीमा पार आतंकवाद पर चिंता जाहिर की

भारतीय उच्चायुक्त अजय बसरिया ने आज पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार नसीर खान जांजुआ से मुलाकात की और जम्मू- कश्मीर में सीमा पार आतंकवाद के बारे में भारत की चिंताओं को उनके समक्ष रखा।

भारतीय उच्चायुक्त ने पाकिस्तान के एनएसए से मुलाकात की, सीमा पार आतंकवाद पर चिंता जाहिर की
X

भारतीय उच्चायुक्त अजय बसरिया ने आज पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) नसीर खान जांजुआ से मुलाकात की और जम्मू- कश्मीर में सीमा पार आतंकवाद के बारे में भारत की चिंताओं को उनके समक्ष रखा।

ये भी पढ़ें- अपने अधिकारों की मांग को लेकर पहली बार दलित सड़कों पर उतरे : शरद यादव

इसके अलावा दोनों देशों के बीच के तनाव को कम कर द्विपक्षीय संबंधों को बेहतर बनाने पर चर्चा हुई। भारतीय उच्चायोग के राजनयिक सूत्रों ने इस्लामाबाद स्थित प्रधानमंत्री कार्यालय में हुई बैठक की पुष्टि की है।
सूत्रों ने बताया, ‘‘प्रधानमंत्री कार्यालय में हुई यह एक शिष्टाचार बैठक थी।'
उन्होंने बताया, ‘‘ उच्चायुक्त ने पाकिस्तान के एनएसए को भारत की चिंता से जुड़े मुद्दों से अवगत कराया। द्विपक्षीय रिश्तों को बेहतर बनाने को लेकर रचनात्मक बातचीत हुई।'
सूत्रों ने बताया कि उच्चायुक्त मेजबान देश के गणमान्य लोगों से नियमित रूप से मिलते रहते हैं और इस बैठक का कार्यक्रम एक सप्ताह पहले तय किया गया था। नयी दिल्ली में सूत्रों ने बताया कि बैठक में भारतीय उच्चायुक्त ने जम्मू- कश्मीर में सीमा पार आतंकवाद का मुद्दा उठाया।
ऐसा समझा जाता है कि राजनयिक ने इस सप्ताह की शुरुआत में कश्मीर के शोपियां और अनंतनाग जिलों में हुई मुठभेड़ की तीन घटनाओं का भी जिक्र किया। इन मुठभेड़ों में 13 आतंकी मारे गए।
इस्लामाबाद स्थित पाक एनएसए के कार्यालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि बसरिया ने जांजुआ से शिष्टाचार मुलाकात की और दोनों ने जम्मू- कश्मीर में हाल में खराब होते हालात सहित द्विपक्षीय संबंधों को बेहतर बनाने से संबंधित विषयों पर चर्चा की।
बयान में कहा गया है कि एनएसए ने उच्चायुक्त का स्वागत किया और कहा कि भारत के साथ रिश्तों को सामान्य बनाने के साथ पाकिस्तान सभी पड़ोसी देशों के साथ मित्रवत संबंध स्थापित करने की नीति पर काम कर रहा है।
एनएसए कार्यालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि जांजुआ ने कश्मीर में‘ जारी मानवाधिकार उल्लंघनों पर गंभीर चिंता' जाहिर की और उन्होंने कहा कि‘ बल के प्रयोग से हमें कोई लाभ नहीं होगा। यह जबकि उम्मीदों को खत्म कर देता है, समाज को नुकसान पहुंचाता है और नाजुक स्थिति को और खराब कर देता है।'
जांजुआ ने कहा, ‘‘ बातचीत के जरिये ही हम अपने विवादों को सुलझा जा सकते हैं। हमारे विवादों के शांतिपूर्ण समाधान का संबंध भविष्य से है।'
बयान में कहा गया है कि भारतीय उच्चायुक्त ने इस बात को स्वीकार किया कि पाकिस्तान और भारत को निश्चित तौर पर अपने रिश्तों को बेहतर बनाने की जरूरत है और कहा कि ‘‘दोनों देशों में रिश्तों को बेहतर बनाने और एक- दूसरे की जरूरतों को पूरा करने की अपार संभावनाएं हैं।'
उन्होंने साथ ही सुझाव दिया कि कैदियों की अदला- बदली, चिकित्सा दलों का दौरा और व्यापार पहल जैसे छोटे- छोटे कदमों से द्विपक्षीय रिश्तों को बेहतर बनाया जा सकता है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story