Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पाकिस्तान ने 218 भारतीय मछुआरों को किया रिहा

''सद्भावना के कदम'' के तौर पर रिहा किए गए मछुआरे

पाकिस्तान ने 218 भारतीय मछुआरों को किया रिहा
X
नई दिल्ली. पाकिस्तान सरकार के आदेश पर वाघा बॉर्डर के रास्ते रिहा किए गए 218 भारतीय मछुआरे शनिवार को भारत पहुंचे। इन भारतीय मछुआरों को गुजरात मत्स्य विभाग ने अपने संरक्षण में ले लिया है। पाकिस्तान सरकार ने भारतीय मछुआरों को 'सद्भावना के कदम' के तौर पर रिहा करने का आदेश दिया था।
गुजरात मत्स्य विभाग की के. आर. पटनी ने बताया कि हमारी टीम ने वाघा बॉर्डर पर शनिवार की सुबह 218 मछुआरों को अपने संरक्षण में लिया। इनमें से अधिकतर मछुआरे गुजरात के जामनगर, जूनागढ़, गिर सोमनाथ, वेरावल, नवसारी और दमन एवं दीव के निवासी हैं। कुछ ही मछुआरे अन्य राज्यों से हैं।'
पटनी ने बताया कि मछुआरों का पहला जत्था शनिवार की शाम ट्रेन से वडोदरा के लिए रवाना होगा। मछुआरों को 5 जनवरी को कराची की मालिर जेल से रिहा किया गया था। उरी हमले के बाद से दोनों देशों के बीच तनाव की स्थिति है। इस हमले के बाद से अब तक पाक जेलों से रिहा किया गया यह भारतीय मछुआरों का दूसरा बैच है। कुल 220 मछुआरों का पहला बैच 25 दिसंबर को रिहा किया गया था। ये मछुआरे कथित तौर पर पाकिस्तान की जलसीमा में प्रवेश कर गए थे।
टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान की ओर से पिछले 10 दिन में रिहा किए गए भारतीय मछुआरों की संख्या 438 हो गई है। पटनी के अनुसार, गिर सोमनाथ जिले के निवासी मछुआरे जीवा भगवान की मौत उनके साथियों की रिहाई से एक दिन पहले दिल का दौरा पड़ने के कारण हो गई थी। वह कराची जेल में बंद थे।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story