Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

2015 में 7.5 फीसदी रहेगी भारत की वृद्धि दर, सरकार उठा रही उत्साहजनक कदम : मूडीज

2014 में देश की आर्थिक वृद्धि दर 7.2 प्रतिशत थी।

2015 में 7.5 फीसदी रहेगी भारत की वृद्धि दर, सरकार उठा रही उत्साहजनक कदम : मूडीज
नई दिल्ली. वैश्विक रेटिंग एजेंसी मूडीज समूह की एक इकाई ने भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि 2015 के बारे में अपने अनुमान को आंशिक रूप से सुधार कर इसे 7.5 प्रतिशत रहने का अनुमान व्यक्त किया है। उसका अनुमान है कि 2014 में देश की आर्थिक वृद्धि दर 7.2 प्रतिशत थी। इस फर्म की एक रपट मे कहा गया है कि ब्याज दरों में कटौती से निजी क्षेत्र खर्च बढ़ाएगा।
मूडीज ऐनेलिटिक्स ने एक अध्ययन में कहा है, हमारे आकलन से स्पष्ट है कि पहली तिमाही में वृद्धि दर 7.3 प्रतिशत रही जो पिछली तिमाहियों से कम है। लेकिन हमें उम्मीद है कि यह गिरावट अस्थाई होगी क्योंकि घरेलू मांग में सुधार से भारत को 2015 में 7.5 प्रतिशत की वृद्धि दर दर्ज करने में मदद मिलेगी।
इससे पहले आज ही मूडीज एनेलिटिक्स ने 2015 के लिए वृद्धि 7.3 प्रतिशत रहने का अनुमान जताया था जिसे बाद में सुधार कर 7.5 प्रतिशत कर दिया गया। इस सप्ताह अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने अनुमान जताया था कि भारत 2015-16 में चीन का पीछे छोड़कर सबसे अधिक तेजी से उभरती अर्थव्यवस्था बन जाएगा और 7.5 प्रतिशत की वृद्धि दर दर्ज करेगा। भारत को इस दिशा में हालिया नीतिगत पहलों, निवेश में बढ़ोतरी और कच्चे तेल की कीमत में नरमी से मदद मिलेगी। विश्वबैंक ने भी चालू वित्त वर्ष के लिए लगभग इसी तरह की वृद्धि का अनुमान जाहिर किया।
नीति गतिरोध, लाला फीताशाही से निवेश बाधित
वैश्विक रेटिंग एजेंसी स्टैंडर्ड एंड पूअर्स का कहना है कि भारत में नीति के मामले में गतिरोध तथा लाला फीताशाही के कारण निवेश बाधित हुआ है। एशिया की तीन उभरती अर्थव्यवस्था का अध्ययन करने वाली रेटिंग एजेंसी ने कहा कि भारत में अलग परिदृश्य है जहां कंपनी आय स्थिर हो गई जबकि कर्ज लगातार बढ़ रहा है तथा निवेश में गिरावट आयी है। स्टैंडर्ड एंड पूअर्स ने कहा, हमारा मानना है कि नीति गतिरोध तथा प्रशासनिक लाल फीताशाही से निवेश बाधित हुआ है। अब चुनौती मौजूदा संपत्ति की आय की संभावना को खोलने की है।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, पूरी खबर
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top