Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सेना देगी जवानों को वर्दी के लिए रक्षा मंत्रालय ने दी हरी झंडी, सालाना मिलेंगे 10,000 रुपए

सातवें वेतन आयोग की सिफारिश को रक्षा मंत्रालय ने हरी झंडी प्रदान कर दी है। अब जवानों को वर्दी के लिए 10 हजार रुपए सालाना दिए जाएंगे।

सेना देगी जवानों को वर्दी के लिए रक्षा मंत्रालय ने दी हरी झंडी, सालाना मिलेंगे 10,000 रुपए
X

सेना के जवानों को वर्दी के लिए भविष्य में किसी तरह की चुनौती का सामना नहीं करना पड़ेगा। क्योंकि बीते 28 जून को इस बाबत की गई सातवें वेतन आयोग की सिफारिश को रक्षा मंत्रालय ने हरी झंडी प्रदान कर दी है। जिसमें इसके लिए सालाना 10 हजार रुपए का प्रावधान करने की सिफारिश की गई थी।

गौरतलब है कि इस मामले ने हाल ही में मीडिया में छपी कुछ खबरों के बाद काफी तूल पकड़ा था। जिनमें यह कहा गया था कि सेना के जवानों को अपनी वर्दी स्वयं खरीदनी पड़ रही है। सेना इसमें उनकी कोई मदद नहीं कर रही है। इसके बाद रक्षा सचिव संजय मित्रा ने एक कार्यक्रम में इसका खंडन किया था।

ये भी पढ़ेंः केंद्रीय मंत्री बोलेः जगन्नाथ मंदिर में राष्ट्रपति और उनकी पत्नी के साथ नहीं हुआ दुर्व्यवहार

पहले और अब की स्थिति

सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि अब जवानों को वर्दी के लिए 10 हजार रुपए सालाना दिए जाएंगे। इसमें कुल 41 चीजों को शामिल किया गया है। जिसमें गर्मी और सर्दी की यूनिफॉर्म, टोपी, बेल्ट, टेग, रिबन, कंधे पर लगने वाली डोरी मुख्य रुप से शामिल है। इसके अलावा कॉम्बेट ड्रेस, पीटी सूज, कंबल, मच्छरदानी, तैनाती के दौरान प्रयोग किया जाना वाला बैग, दरी और सियाचिन जैसे दुर्गम ऊंचाई वाले बर्फीले इलाकों में तैनाती के लिए जरुरी यूनिफॉर्म जैसी चीजें जवानों को मुफ्त में दी जाएंगी।
पहले जवानों को सेना की तरफ से तीन साल में एक बार दो यूनिफॉर्म दी जाती थी। इनकी फिटिंग और कपड़े की क्वालिटी अच्छी नहीं होती थी। इतने ज्यादा वक्त के बाद यूनिफॉर्म मिलने से जवानों का काम ठीक ढंग से नहीं चल रहा था और उन्हें स्वयं अपने पैसे से ही यूनिफॉर्म खरीदनी पड़ रही थी।

वीर नारियों को रोजगार

इस निर्णय के साथ यह व्यवस्था भी की गई है कि जवानों को वर्दी के लिए किसी भी सेना की कैंटीन (सीएसडी) से करीब 700 रुपए में अच्छी गुणवत्ता का कपड़ा मिल जाएगा। साथ ही इसकी सिलाई और फिटिंग के काम के लिए सेना अपने शहीद हो चुके जवानों की पत्नियों को शामिल करेगी और उनके लिए कुछ विशेष केंद्र भी खोलेगी।
इसके पीछे उद्देश्य वीर नारियों को रोजगार प्रदान करना है। पुराने के अलावा नए जवानों को ट्रेनिंग के दौरान भी सेना की ओर से मुफ्त में यूनिफॉर्म दी जाएगी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story