Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

डोकलाम के बाद अब अरुणाचल के आसफिला में चीन ने ठोका दावा, सेना ने दिया जवाब

भारतीय सेना ने कहा कि यह इलाका अरुणाचल प्रदेश के ऊपरी सुबानसिरी जिले में है और भारतीय सैनिक अकसर यहां पट्रोलिंग करते रहे हैं।

डोकलाम के बाद अब अरुणाचल के आसफिला में चीन ने ठोका दावा, सेना ने दिया जवाब
X

डोकलाम के बाद अब अरुणाचल प्रदेश में भारत और चीन के बीच विवाद की स्थिति बन सकती है। रणनीतिक रूप से बेहद संवेदनशील अरुणाचल प्रदेश के आसफिला क्षेत्र में भारतीय सेना की पट्रोलिंग को चीन ने अतिक्रमण करार दिया है और इस पर आपत्ति जताई है। चीन ने इस क्षेत्र पर अपना दावा ठोक दिया है।

हालांकि भारतीय सेना की ओर से चीन की इन आपत्तियों को खारिज कर दिया गया है। एक आधिकारिक सूत्र ने इस बात की जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि बीते 15 मार्च को 'बॉर्डर पर्सनेल मीटिंग' के दौरान चीनी पक्ष की ओर से यह बात उठाई गई थी, जिसे भारतीय सेना ने खारिज कर दिया है।

इसे भी पढ़ें- सीरिया में फिर हुआ आत्मघाती हमला, केमिकल हमले में 70 लोगों ने गवाई जान, सुरक्षा अभियान जारी

भारतीय सेना ने चीन पर लगाया घुसपैठ का आरोप

भारतीय सेना ने कहा कि यह इलाका अरुणाचल प्रदेश के ऊपरी सुबानसिरी जिले में है और भारतीय सैनिक अकसर यहां पट्रोलिंग करते रहे हैं। सूत्रों ने बताया कि चीनी पक्ष ने इस इलाके में भारतीय सैनिकों की पट्रोलिंग को अतिक्रमण करार दिया, जिस पर भारतीय सेना ने अपनी आपत्ति दर्ज कराई।

सूत्र ने कहा कि आसफिला में पट्रोलिंग का चीन की ओर से विरोध किया जाना आश्चर्यजनक है। उन्होंने कहा कि उल्टे चीनी सैनिक इस इलाके में अकसर घुसपैठ करते रहते हैं और भारतीय सेना ने इसे गंभीरता से लिया है।

इसे भी पढ़ें- मुशर्रफ ने टाली पाकिस्तान वापसी, देशद्रोह के मामले में स्पेशल कोर्ट में होना है हाजिर

वास्तविक सीमा रेखा को लेकर अलग अलग दावे

बॉर्डर पर्सनेल मीटिंग के तहत दोनों पक्ष अतिक्रमण की किसी भी घटना के लिए अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं। बता दें कि अरुणाचल में वास्तविक सीमा रेखा को लेकर चीन और भारत के अलग-अलग दावे हैं। यहां तक कि अरुणाचल के तवांग इलाके के बड़े हिस्से पर चीन अपना दावा जताता रहा है।

मीटिंग के दौरान चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी के प्रतिनिधिमंडल ने आसफिला में भारतीय सैनिकों की सघन पट्रोलिंग का विरोध करते हुए कहा कि ऐसे उल्लंघन किए जाने से दोनों पक्षों के बीच तनाव में इजाफा हो सकता है।

सेना ने चीनी विरोध को किया खारिज

चीनी सेना के विरोध को पुरजोर तरीके से खारिज करते हुए भारतीय सेना ने कहा कि हमारे सैनिक उस इलाके में पट्रोलिंग करते रहेंगे। सेना ने कहा कि हमें भारत और चीन के बीच वास्तविक सीमा रेखा के बारे में पूरी जानकारी है और हम दोनों देशों की सीमा को समझते हैं। इस इलाके में चीन और भारत के बीच अपनी सीमाओं को लेकर मतभेद हैं।

आसफिला सेक्टर में पेट्रोलिंग पर आपत्ति

सूत्रों ने कहा कि चीनी सेना विशेषतौर पर आसफिला सेक्टर में 21, 22 और 23 दिसंबर को हुई भारी पट्रोलिंग को लेकर आपत्ति जताई। इसके बाद चीन और भारत के सैनिकों ने सीमा पर तनाव की स्थिति से निपटने के लिए मीटिंग बुलाई। चीन और भारत के बीच 5 बॉर्डर पर्सनेल मीटिंग पॉइंट्स हैं- अरुणाचल प्रदेश में बम ला और किबिथू, लद्दाख में दौलत बेग ओल्डी और चुशुल और सिक्किम में नाथू ला।

इनपुट- भाषा

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story