Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भारत-चीन डोकलाम विवादः सेना ने नहीं दिया गांव खाली करने के आदेश

सेना के वरिष्ठ अधिकारियों अनुसार यह इंडियन आर्मी का वार्षिक अभ्यास है।

भारत-चीन डोकलाम विवादः सेना ने नहीं दिया गांव खाली करने के आदेश
X

डोकलाम को लेकर भारत और चीन में पिछले दो महीने से विवाद चल रहा है। इस बीच खबर आई कि सेना ने डोकलाम सीमा के पास स्थित गांवों को खाली करने का आदेश दिया है। इस खबर के आने के तुरंत बाद सेना ने इस बात से इनकार करते हुए एक सर्कुलर जारी कर कहा कि सेना ने ऐसा कोई आदेश दिया है।

इसे भी पढ़ें:- 1962 के युद्ध से मजबूत है भारतीय सेना: अरुण जेटली

नाथंग गांव के लोगों ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से 33 क्रॉप के जवानों की कई टुकड़ियां डोकलाम सीमा की ओर बढ़ते हुए देखा गया है। लेकिन आशंका जताई जा रही है कि भारत-चीन के बीच युद्ध की स्थति में आम नागरिकों को बचाने के लिए सेना की ओर से ऐसा कदम उठाया गया है।

सेना ने किया खारिज

डोकलाम सीमा की तरफ सैनिकों की बढ़ने की खबरों को सेना ने खंडन किया है। सेना के वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि यह इंडियन आर्मी का वार्षिक अभ्यास है जो इससे पहले सितंबर के महीने में किया जाता था, लेकिन इस साल थोड़ा पहले किया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें:- डोकलाम विवादः सेना ने दिए गांव खाली करने के आदेश

चीन ने दी धमकी

बता दें कि डोकलाम सीमा के एक किलोमीटर के दायरे में चीन ने 80 टैंट लगा दिए हैं। चीनी सेना पीपुल्स लिब्रेशन आर्मी की तरफ से डोकलाम में युद्धस्तर पर तैयारी की जा रही है। इससे पहले चीन कई बार भारत को युद्ध की धमकी दे चुका है। चीनी मीडिया की ओर से भी यह कहा जा रहा है कि भारत-चीन युद्ध की उलटी गिनती शुरू हो चुकी है।

डोकलाम में सेना ने तैनात की जाट रेजिमेंट

आपको बता दें कि चीन के साथ युद्ध की स्थिति से निपटने के लिए इंडियन आर्मी ने पहली बार डोकलाम सीमा पर 6 फुट लंबे जाट रेजिमेंट की तैनाती की है। जाट रेजिनेंट के इन जवानों में से कई को चीनी भाषा भी आती है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top