Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पाक के हाथों चार सैन्यकर्मियों के शहीद होने पर सेना ने जवाबी कार्रवाई का दिया संकेत

जम्मू कश्मीर के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान द्वारा भारी गोलाबारी में कल सेना के चार जवानों के शहीद होने के एक दिन बाद सेना ने आज साफ संकेत दिया कि वह जवाबी कार्रवाई करेगी और उसकी कार्रवाई खुद बोलेगी।

पाक के हाथों चार सैन्यकर्मियों के शहीद होने पर सेना ने जवाबी कार्रवाई का दिया संकेत
X

जम्मू कश्मीर के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान द्वारा भारी गोलाबारी में कल सेना के चार जवानों के शहीद होने के एक दिन बाद सेना ने आज साफ संकेत दिया कि वह जवाबी कार्रवाई करेगी और उसकी कार्रवाई खुद बोलेगी।

उप सेना प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल शरत चंद ने कहा कि सेना पाकिस्तान की गोलाबारी का उचित ढंग से जवाब दे रही है और भारत इस तरह की हरकतों का ‘‘माकूल जवाब' देता रहेगा।
उन्होंने कहा, ‘‘यह (जवाबी कार्रवाई) बिना कुछ कहे चल रही है, मेरा मानना है कि मुझे यह कहना नहीं है। हमारी कार्रवाई खुद बोलेगी।'
एलओसी पर पाकिस्तान की भारी गोलाबारी में कल एक कैप्टन और तीन जवान शहीद हो गये थे और कम से कम चार लोग घायल हो गये थे। चंद ने कहा कि पाकिस्तानी सेना सीमा पर आतंकियों की घुसपैठ का समर्थन कर रही है।
यहां एक कार्यक्रम के इतर उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम (इस तरह की कार्रवाई का) मुंहतोड़ जवाब देना जारी रखेंगे।' उन्होंने कहा, ‘‘हम समुचित ढंग से जवाब दे रहे हैं।'
पाकिस्तान की ओर से कल की गई गोलाबारी के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘पाकिस्तान की ओर से सीमा पार गोलाबारी हो रही है। गोलों में से एक गोला अधिकारी और उनके चार जवानों के निकट गिरा जिससे ये जवान शहीद हुए।'
सैन्य अधिकारियों ने बताया कि हरियाणा के गुडगांव जिले के रहने वाले कैप्टन कपिल कुंडू अपने 23 वें जन्मदिन से केवल छह दिन पहले शहीद हुए। इनके अलावा साम्बा जिले के रहने वाले रोशन लाल (42), मध्य प्रदेश के रहने वाले राइफलमैन राम अवतार (27) और जम्मू कश्मीर के कठुआ जिले के रहने वाले शुभम सिंह (23) शहीद हो गये।
रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत और सेना के शीर्ष अधिकारियों ने यहां कैप्टन कपिल कुंडू को श्रद्धांजलि दी। उनका पार्थिव शरीर उनके गृह राज्य हरियाणा ले जाये जाने के लिए यहां लाया गया।
सैन्य सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तानी सेना ने कल के हमले के लिए 120 एमएम मोर्टारों और एंटी टैंक गाइडेड मिसाइलों का इस्तेमाल किया था।
आमतौर पर पाकिस्तानी सेना 80 एमएम मोर्टारों का इस्तेमाल करती है। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज संसद के बाहर पत्रकारों से कहा कि देश के लोगों का सेना के पराक्रम पर पूरा भरोसा है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story