Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

भारतीय सेना दिवसः जानें भारतीय सेना की 10 खास बातें, जिसके आगे पाकिस्तान और चीन भी है नतमस्तक

भारतीय फौज आज 70वां सेना दिवस मना रही है। INDIAN ARMY के पास 136 एयरक्राप्ट हैं।

भारतीय सेना दिवसः जानें भारतीय सेना की 10 खास बातें, जिसके आगे पाकिस्तान और चीन भी है नतमस्तक

भारतीय फौज आज 70वां सेना दिवस मना रही है। देश की सुरक्षा करने वाली और प्राकृतिक आपदाओं में लोगों की मदद करने वाली भारतीय सेना अपनी गौरवशाली परंपरा का निर्वाह करते हुए हर साल 15 जनवरी सेना दिवस मनाती है।

आज ही के दिन 1949 में भारतीय सेना पूरी तरह ब्रिटिश सेना से आजाद हो गई थी और फील्ड मार्शल के एम करिअप्पा आजाद भारत के पहले सेना प्रमुख बने थे। उसके बाद से हर वर्ष आज के दिन को सेना दिवस के रूप में मनाया जाता है।

इससे पहले करिअप्पा ब्रिटिश मूल के फ्रॉन्सिस बूचर बतौर सेना प्रमुख थे। और उन्होंने 1947 के भारत-पाक युद्ध में भारतीय सेना का नेतृत्व किया था।

आइये जानते हैं भारतीय सेना से जुड़े 10 रोचक तथ्यों को-
1. इंडियन आर्मी की शुरूआत 1776 में कोलकाता में ईस्ट इंडिया कंपनी के सरकार के दौरान की गई।
2. करीब 11लाख 30 हजार सक्रिय सैनिक एव करीब 12लाख के आसपास आरक्षित सैनिको की सेवाए ग्रहण करने वाली भारतीय सेना विश्व में यूएसए और चीन के बाद विश्व का तीसरी सबसे बड़ी आर्मी है।
3. INDIAN ARMY के पास 136 एयरक्राप्ट हैं।
4. भारतीय थल सेना की बागडोर रक्षा मंत्रालय के हाथ मे होती है।
5. जाति या धर्म के आधार पर मिलने वाली आरक्षण की व्यवस्था भारतीय आर्मी में नही है।
6. भारतीय सेना के बारे में कहा जाता है कि यह सबसे ऊंची और पर्वतीय युद्धों के लिए सबसे अच्छे माने जाते हैं।
7. INDIAN ARMY ने अंग्रेजो की तरफ से दोनो विश्व युध्दो मे भाग लिया था।
8. पहले विश्व युद्ध मे करीब भारतीय सेना के 13लाख 500सैनिको ने भाग लिया जिसमे से 74190 सैनिक फिर कभी लौट कर ना आए। यह विश्व युध्द 1914 से 1918 तक चला था। 11-1947 में भारत पाकिस्तान के विभाजन से पहले गोरखा की 10 बटालियन हमारे पास थी।
9. INDIAN ARMY ने सर्वप्रथम 1947 मे कश्मीर मे जारी विद्रोह के खिलाफ लडी थी। धर्म की भावनाओ को हटा कर हिन्दू मुस्लिम सब एक हो कर यहा जान गवाते है शान से ताकी हमारा प्यारा भारत वर्ष प्यारा और दुलारा रहे।
10. दिसम्बर 1971 में भारत-पाकिस्तान के बीच हुए लोंगेवाला के युद्ध में भारतीय सेना के सिर्फ 2 जवान हताहत हुए थे।
भारतीय सेना विषम परिस्थितीयों की बादशाह है, यह तपती रेगीस्तान से लेकर सनसनाती ठंडी एरीया सियाचीन जहा पानी भी बर्फ बन जाता वहा पर भी मुश्किल हालातों मे भी डटी रहती है।
Loading...
Share it
Top