Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

यस बैंक मामले में बड़ा खुलासा, राणा कपूर ने इतने करोड़ में खरीदी थी प्रियंका गांधी की पेंटिंग

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने यस बैंक के पूर्व एमडी और सीईओ राणा कपूर पर मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में एक बड़ा खुलासा किया है। मीडिया सूत्रों के मुताबिक राणा कपूर ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की पेंटिंग को इतने करोड़ रुपये में खरीदा था।

Yes Bank : घोटाले करने वाले कौन
X
यस बैंक (फाइल फोटो)

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने यस बैंक के पूर्व एमडी और सीईओ राणा कपूर पर मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में एक बड़ा खुलासा किया है। मीडिया सूत्रों के मुताबिक राणा कपूर ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की पेंटिंग को 2 करोड़ रुपये में खरीदी थी। बताया जा रहा है कि यूपीए सरकार के दौरान यस बैंक के सीईओ राणा कपूर ने प्रियंका गांधी की पेंटिंग को 2 करोड़ रुपये में खरीदा था।

इस खुलासे के बाद इनकम टैक्स डिपार्टमेंट भी इस मामले की जांच में जुटा गया। जहां एक तरफ यस बैंक के सीईओ के घर पर छापे मारने के बाद कांग्रेस बीजेपी पर निशाना साध रही थी तो वहीं ईडी के खुलासा के बाद यह हमलावर पलट गया। ईडी के खुलासा के बाद बीजेपी ने कांग्रेस को घेरते हुए कहा कि भारत में हर वित्तीय अपराध गांधी परिवार से जुड़ा होता है।

बीजेपी के आरोप लगाने के बाद प्रियंका गांधी और राणा कपूर के बीच हुए सौदे को कांग्रेस ने स्वीकार किया है। वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस पार्टी नेता राशिद अल्वी ने कहा कि इस सौदेबाजी से क्या फर्क पड़ता है। अगर प्रियंका गांधी ने कोई चीज बेची है और किसी ने खरीदी है तो उसमें खरीदार की बात कहां से आ गई। इस पेंटिंग को कोई भी खरीद सकता है।

बता दें कि ईडी के द्वारा राणा कपूर के घर छापे मारने के बाद रविवार को उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, ईडी ने 8 मार्च को यस बैंक के पूर्व एमडी और सीईओ राणा कपूर को गिरफ्तार किया था। ईडी के अधिकारियों ने करीब 29 घंटे तक पूछताछ की थी।

सूत्रों के अनुसार ईडी ने राणा कपूर की बेटी राधा और रोशनी डॉयट अर्बन वेंचर्स की निदेशक को भी निशाने में लिया है। राणा कपूर की बेटी राधा पर आरोप लगाया गया कि डीएचएफएल, यस बैंक को कर्ज चुकाने में असफल रही। उसके बावजूद डॉयल अर्बन वेंचर्स को 600 करोड़ रुपये दिए गए। जिसके तहत ईडी के द्वारा जांच किया जा रहा है। साथ ही 5,000 करोड़ रुपये के अन्य लेनदेन के बारे की भी जांच कर रही है।


Priyanka Kumari

Priyanka Kumari

Jr. Sub Editor


Next Story