Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

World Population Day 2019 : भारत में बढ़ती जनसंख्या को रोकने के उपाय

देश की जनसंख्या इस समय करीब 130 करोड़ के पार जा चुकी है। इतनी तेजी से बढ़ती से देश के लिए चिंता का विषय बना हुआ है। जनसंख्या विस्फोट से न केवल सामाजिक बल्कि आर्थिक समस्याएं पैदा हो रही है। कहा जाता है कि भारत युवाओं का देश है। यहां कुल 65 प्रतिशत युवा आबादी निवास करती है। 50 प्रतिशत जनसख्या 10 से 24 की उम्र की है।

World Population Day 2019 : विश्व जनसंख्या दिवस 2019 पर जनसंख्या नियंत्रण के उपाय, जानें कैसे रूकेगी बढ़ती आबादी का विस्फोट
X
World Population Day 2019 Population Control Planning world population day 2019 theme

देश की जनसंख्या इस समय करीब 130 करोड़ के पार जा चुकी है। इतनी तेजी से बढ़ती से देश के लिए चिंता का विषय बना हुआ है। जनसंख्या विस्फोट से न केवल सामाजिक बल्कि आर्थिक समस्याएं पैदा हो रही है। कहा जाता है कि भारत युवाओं का देश है। यहां कुल 65 प्रतिशत युवा आबादी निवास करती है। 50 प्रतिशत जनसख्या 10 से 24 की उम्र की है। आने वाले समय में इन युवाओं को शिक्षा रोजगार व कई बुनियादी सुविधाओं की जरूरत पड़ेगी। लेकिन बढ़ती जनसंख्या के कारण सरकार कुछ भी करने में असमर्थ दिख रही है। देश आज बेरोजगारी का दंश झेल रहा है। इसमें केवल जनसंख्या वृद्धि को ही दोष दिया जा सकता है।

जनसंख्या नियंत्रण के उपाय

सख्त कानून की जरूरत

भारत में एक आदर्श परिवार में बच्चों की संख्या को स्पष्ट करना होगा। हमारे देश में अभी दो बच्चों का जन्म आदर्श माना जाता है लेकिन आंकड़ों को देखें तो सबसे ज्यादा पढ़े लिखे लोग ही 3-4 बच्चे पैदा कर रहे हैं। सरकार को जमीनी सच्चाई को जानने की कोशिश करनी चाहिए। सरकार को इस मामले में कानून लाना चाहिए। कम से कम एक परिवार को केवल 2 बच्चा नीति अपनाना चाहिए ताकि उनका पालन-पोषण व भविष्य का निर्धारण हो सके।

बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं दे सरकार

सरकार अगर एक बच्चा नीति अपनाती है तो उसे सरकारी सुरक्षा, स्वास्थ्य पर ध्यान देना होगा। देखा जाए तो ज्यादातर मां-बाप इसलिए दो या तीन बच्चे पैदा कर लेते हैं क्योंकि उन्हें डर रहता है कि किसी बीमारी या हादसे में उसकी मौत न हो जाए।

विवाह की उम्र सीमा बढ़ाई जाए

भारत में कम उम्र में ही मां बाप अपने बच्चों का विवाह कर देते हैं जिससे वे अशिक्षा के कारण ज्यादा बच्चे पैदा कर देते हैं। सरकार को चाहिए कि विवाह की सीमा बढ़ा दी जाए। वहीं मां की उम्र व बच्चे की उम्र में एक फासला होना चाहिए, यदि विवाह जल्द ही हो गया है तो सक्षम होने तक बच्चे पैदा न करने का निर्देश दिया जाए।

ज्यादा बच्चे पैदा करने वालों को न मिले छूट

आजकल सरकारी अस्पतालों में बच्चों की जन्म पर दवाएं व कुछ राशियां मुफ्त में दी जाती हैं। इससे अशिक्षित व ग्रामीण परिवेश के लोग ज्यादा बच्चों को जन्म देते हैं। आशय यह है कि बच्चों की संख्या के आधार पर ही सरकार द्वारा अस्पताल में छूट दी जाए।

शिशु मृत्युदर कम करना होगा

सरकार को शिशु मृत्युदर कम करना चाहिए जिससे कि लोगों के अंदर से भय खत्म हो और वे ज्यादा बच्चे पैदा न करें। इसके लिए सरकार को झुग्गी-बस्तियों में टीकाकरण अभियान चलाना चाहिए। जिससे कि सभी बच्चों का स्वास्थ्य सुनिश्चित हो सके।

सबसे जरूरी जागरूकता अभियान

सरकार को बढ़ती जनसंख्या के प्रति ग्रामीणों, अशिक्षितों में जागरूकता का अभियान चलाना चाहिए, इसके तहत लोगों को बताना चाहिए कि बढ़ती जनसंख्या के वजह से तमाम प्रकार की आर्थिक, सामाजिक संकटों का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए जागरूकता अभियान सबसे महत्वपूर्ण है। सरकार को इसके लिए टीवी, रेडियो व अखबारों के माध्यम से व्यापक प्रचार करना चाहिए।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story